लाहौर/नई दिल्ली: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गेहूं का आधिकारिक भाव बढ़ाकर 1,375 रुपए (पाकिस्तानी मुद्रा) प्रति मन (40 किलो) कर दिया गया है और 20 किलो आटे का आधिकारिक भाव 808 रुपए हो गया है. द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, गेहूं और आटे के आधिकारिक भाव में बढ़ोतरी को शनिवार को प्रधानमंत्री आवास में हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में मंजूरी दी गई. वहीं, पंजाब के मुख्य सचिव ने कहा कि 1300 रुपए प्रति मन भाव रखने ने तस्करी को भी बढ़ावा मिलेगा.

रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब कैबिनेट द्वारा इस नए भाव को अगले सप्ताह औपचारिक मंजूरी दी जा सकती है, जबकि सरकार ईद के त्योहार के बाद आटा मिलों को नए दरों पर गेहूं मुहैया करेगी.

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि बैठक के दौरान पंजाब के उद्योग सचिव गेहूं का समर्थन मूल्य 1,300 रुपए प्रति मन बनाए रखने के प्रस्ताव के पक्ष में अविश्वसनीय आंकड़े दे रहे थे, क्योंकि वह अपने इस दावे की पुष्टि नहीं कर पाए कि इससे रोटी और नान की कीमतें क्रमश: एक रुपए बढ़ जाएंगी.

पंजाब के मुख्य सचिव युसुफ नसीम खोखर ने कहा कि गेहूं का भाव 1,300 रुपए प्रति मन उचित नहीं है, क्योंकि इससे काफी अनुदान प्रदान करने की जरूरत होगी और इससे तस्करी को भी बढ़ावा मिलेगा लिहाजा, 1,375 रुपये प्रति मन उचित भाव है.

बैठक में शामिल अधिकारियों को यह भी बताया गया कि खुले बाजार में गेहूं के भाव 1,390 रुपए से लेकर 1,430 रुपए प्रति मन के बीच उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है, जबकि आटे का औसत मूल्य 790 रुपए प्रति 20 किलो है.

बता दें भारत में सरकारी एजेंसियों ने फसल वर्ष 2018-19 (जुलाई-जून) में उत्पादित गेहूं न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 1,840 रुपये प्रति क्विंटल (100 किलो) पर किसानों से खरीदा है.

वहीं, भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) ने दो अगस्त 2019 को जारी टेंडर नोटिस में ओपन मार्केट सेल्स स्कीम (ओएमएमएस) के तहत गेहूं की बिक्री के लिए रिजर्व प्राइस 2,080 रुपए प्रति क्विंटल रखा है.