नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में मंगलवार को एक बार फिर वृद्धि हुई. पेट्रोल में 11 पैसे वहीं डीजल में 23 पैसे की बढ़ोतरी देखने को मिली. दिल्ली में पेट्रोल 82.83 जबकि डीजल 75.69 रुपए प्रतिलीटर मिल रहा है. मुंबई में पेट्रोल 88.29 और डीजल 24 पैसे महंगा होकर 79.35 रुपए प्रतिलीटर मिल रहा है. सोमवार को पेट्रोल के दाम नहीं बढ़ाए गए थे लेकिन डीजल की कीमत में बढ़ोतरी देखने को मिली थी. डीजल के दाम में सोमवार को लगातार 10वें दिन वृद्धि हुई थी. इसके साथ इस महीने उत्पाद शुल्क में कटौती और तेल कंपनियों की सब्सिडी के जरिये दाम में 2.50 रुपये प्रति लीटर की कमी का प्रभाव समाप्त हो गया है.

सरकार ने पांच अक्टूबर से पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में 1.50 रुपये प्रति लीटर की कटौती की. वहीं सरकारी तेल कंपनियों से एक रुपये लीटर की सब्सिडी देने को कहा था. हालांकि उसके अगले दिन से ईंधन का बिक्री मूल्य लगातार बढ़ रहा है.सार्वजनिक क्षेत्र की खुदरा ईंधन कंपनियों की कीमत अधिसूचना के मुताबिक पेट्रोल के दाम सोमवार को स्थिर रहे वहीं डीजल की कीमत में 8 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई. इस वृद्धि के साथ डीजल का मूल्य पिछले 10 दिनों में 2.51 रुपये प्रति लीटर बढ़ चुका है.

तेल कंपनियां पिछले साल जून के मध्य से रोजाना कीमतों की समीक्षा कर रही हैं. उस समय से डीजल के दाम में यह सबसे तीव्र वृद्धि है.इस वृद्धि के बाद दिल्ली में डीजल 75.46 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया. वहीं उत्पाद शुल्क में कटौती और एक रुपये की सब्सिडी लागू होने के एक दिन पहले चार अक्टूबर को यह 75.45 रुपये प्रति लीटर था. वहीं पेट्रोल का भाव 82.72 रुपये प्रति लीटर पर आ गया है. चार अक्टूबर के बाद इसमें 1.22 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है.चार अक्टूबर को पेट्रोल की कीमत 84 रुपये प्रति लीटर थी.

वहीं कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी के नाम पर देश की जनता के साथ छल किया है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी दावा किया कि जनता को राहत देने की सरकार की घोषणा 10 दिनों में ही ‘जुमला’ साबित हुई. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ’10 दिनों में ही मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर अपनी जुमलापूर्ण राहत वापस ले ली. मात्र 1.5 रुपये की मामूली राहत के बाद दिल्ली में पेट्रोल के दाम 1.22 रुपये बढ़े और डीज़ल के दाम 2.51 रुपये बढ़े. सुरजेवाला ने कहा, ‘ इसे कहते हैं रोलबैक का रोलबैक. मोदी जी के छल की वजह से हर पल जनता पर बोझ पड़ रहा है.