नई दिल्ली: दिल्ली में स्थानीय उपज की आवक बढ़ने के साथ ही विदेशों से आयात होने के बाद प्याज की थोक कीमतों में सोमवार को कुछ कमी देखने को मिली. प्याज मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने कहा, “प्याज की 24,000 बोरियां आजादपुर मंडी में पहुंची हैं, जिनमें से प्रत्येक बोरी में 55 किलो प्याज है. इसी वजह से पिछले सप्ताह की तुलना में प्याज की कीमतों में कमी आई है।” आजादपुर मंडी देश की सबसे बड़ी सब्जी मंडी है.Also Read - Dekho Hamari Delhi: दिल्ली में कहां-कहां हैं घूमने की जगह? शहर के पर्यटन स्थलों की जानकारी देगा केजरीवाल सरकार का ऐप

उन्होंने बताया कि घरेलू उपज के अलावा सोमवार को लगभग 200 टन आयातित प्याज भी मंडी में पहुंची है. सोमवार को मंडी में प्याज के थोक भाव 50 से 75 रुपये प्रति किलो के बीच रहे. एक सूत्र ने कहा कि पिछले सप्ताह के मुकाबले प्याज की कीमतों में पांच रुपये प्रति किलो तक की कमी आई है. सूत्र ने कहा कि अफगानिस्तान और तुर्की से भी प्याज यहां पहुंची है. सूत्र ने कहा, “पिछले दो दिनों में प्याज के 80 से अधिक ट्रक अफगानिस्तान से आए. सीमावर्ती राज्य पंजाब में बड़ी मात्रा में अफगानी प्याज की आपूर्ति की जा रही है.” Also Read - Delhi की रोहिणी कोर्ट में शूटआउट का वीडियो सामने आया, तीन क्रिमिनल की मौत, गैंगस्‍टर गोगी ने भी दम तोड़ा

गौरतलब है कि बीते दिनों भारत सरकार ने मिस्त्र से 6090 टन प्याज का आयात अनुबंध किया है. मिस्त्र के अलावा घरेलू खाद्य आपूर्ति के लिए तुर्की से 11 हजार टन प्याज का आयात किया जाना है. मिस्त्र की प्याज भारतीय बाजार में कुछ जगहों पर आ चुकी है. उम्मीद जताई जा रही है कि जनवरी के पहले सप्ताह में तुर्की से मंगवाई जा रही प्याज भी भारतीय बाजारों में ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगी. Also Read - साड़ी पहनकर रेस्तरां पहुंची महिला को घुसने से रोका, महिला आयोग ने कहा- मामले में जांच करे पुलिस

(इनपुट-आईएएनएस)