नई दिल्ली: देश में प्याज की महंगाई आसमान छू रही है. साथ ही त्योहारी सीजन भी चल रहा है. दीपावली आने को है और प्याज के भाव लोगों को रूलाने के लिए काफी हैं. लेकिन अब लगता है कि प्याज जल्द ही सस्ता हो सकता है. क्योंकि विदेशों से दिवाली से पहले 25,000 टन प्याज मंगवाए जाने का अनुमान है. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि 7,000 टन प्याज पहले ही आ चुके हैं व और प्याज मंगाए जाने हैं. बता दें कि राम विलास पासवान के देहांत के बाद उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय की जिम्मेदारी भी पीयूष गोयल के पास है.Also Read - बिना महंगा हुए ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है 'Pyaaz', Zomato के एक ट्वीट पर शुरू हो गई MEMES की अंताक्षरी

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाददाताओं को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा कि त्योहारी सीजन में प्यार के खुदरा भाव के नियंत्रण में रहने की उम्मीद है. उन्होंने बताया कि प्याज के भाव पर नियंत्रण लगाने के लिए सरकार द्वारा 14 सितंबर को ही प्याज के निर्यात पर रोक लगा दी गई थी. साथ ही प्याज का आयात भी शुरू कर दिया गया था. Also Read - निर्यात 1 लाख करोड़ डॉलर तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है आईटी : पीयूष गोयल

उन्होंने बताया कि विदेशों से अबतक 7,000 टन प्यार लाया जा चुके है और दिवाली से पहले 25,000 टन और प्याज के आयात का अनुमान है. साथ ही नई सफलों के बाजार में आने से त्योहारी सीजन में दाम नियंत्रण में रहेंगी. उन्होंने बताया कि 23 अक्टूबर को प्याज की स्टॉक पर लिमिट लगा दी गई. जिसके अनुसार, थोक व्यापारियों के लिए अधिकतम 25 टन और खुदरा व्यापारियों के लिए अधिकतम दो टन प्याज रखने की सीमा तय की गई है। Also Read - Ghaziabad: वैश्य सम्मेलन में राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा ने की शिरकत; बोले- 'सबको साथ लाने के लिए करना होगा काम'

उन्होंने कहा कि व्यापारियों को प्याज की ग्रेडिंग व पैकिंग के लिए तीन दिन का समय दिया गया है। मतलब मंडी में प्याज की खरीद के बाद तीन दिन तक उसकी पैकिंग व ग्रेडिंग के बाद स्टॉक सीमा लागू होगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में प्याज के बीज की आगे कमी न हो, इसलिए प्याज के बीज के निर्यात पर रोक लगा दी गई है। इससे पहले प्याज के बीज का निर्यात नियंत्रित श्रेणी में था जिसके तहत निर्यात के लिए अनुमति लेने की आवश्यकता होती थी। उन्होंने कहा कि नाफेड ने बफर स्टॉक से अब तक 36,000 टन प्याज राज्य सरकारों व खुले बाजार की बिक्री के जरिए उतारा है।

(इनपुट-आईएएनएस)