नई दिल्लीः भारत की सबसे बड़ी खाद्य तेल उत्पादक और अन्य कृषि उत्पाद प्रसंस्करण कंपनी रुचि सोया को योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि आर्युवेद ने खरीदने की रुचि दिखाई है. हिंदू बिजनेस लाइन की खबर के अनुसार इस कंपनी को खरीदने के लिए पतंजलि ने 9000 करोड़ की बोली लगाई है. रुचि सोया को बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि के बोली लगाने की खबर आने के बाद मंगलवार को कंपनी के शेयरों में 5 प्रतिशत का उछाल आया. बीएसई में रुचि सोया का शेयर 5.15 प्रतिशत उछलकर 17.35 हो गया.

रुचि सोया खाने वाले तेल की पैकेजिंग में पतंजलि की पार्टनर है. रुचि सोया भारत की बड़ी कंपनियों में शामिल है जो नटेल, महाकोश, सनरिक, रुची गोल्ड और रुची स्टार जैसे लोकप्रिय ब्रांड का प्रोडक्शन करती है. 31 दिसंबर 2017 तक कंपनी पर 12 हजार करोड़ का लोन था.

गौरतलब है कि पतंजलि आक्रमक तरीके से अपने बिजनेस को देश में फैला रही है. पतंजलि आयुर्वेद के स्टोर्स अब एयरपोर्ट्स पर भी होंगे. विदेशियों को ध्यान में रखते हुए कंपनी यह कदम उठा रही है. विदेशों में पतंजलि प्रॉडक्ट्स की बढ़ती मांग को देखते हुए और विदेश जा रहे भारतीयों को एयरपोर्ट पर ही प्रॉडक्ट्स उपलब्ध कराने के लिए पतंजलि स्टोर्स खोलेगी. स्टोर्स खोलने के लिए ओरलकेयर प्रॉडक्ट्स बनाने वाली कंपनी जेएचएस स्वेनगार्ड लैबरेटरीज पतंजलि आयुर्वेद के साथ पार्टनरशिप में है.

पतंजलि की सेल्स 2012 में 453 करोड़ रुपये थी, जो 2017 में 20 गुना बढ़कर 10,561 करोड़ रुपये हो गई. कंपनी रोजाना इस्तेमाल होने वाले प्रॉडक्ट्स की बिक्री करती है. इनमें शैम्पू, टूथपेस्ट, बिस्किट, नूडल्स और पैकेज्ड वॉटर शामिल हैं. पतंजलि ने 2019 में कपड़ा मार्केट में भी उतरने का प्लान बनाया है.