नई दिल्लीः डिजिटल भुगतान मंच पेटीएम ने किराना दुकानदारों के लिए मंगलवार को 100 करोड़ रुपये की लॉयल्टी स्कीम पेश की. यह योजना लेनदेन शुल्क के चलते नुकसान झेल रहे किराना दुकानदारों की मदद करेगी. Also Read - पेटीएम से लेती थी पैसा और Whatsapp में करती थी ड्रग्स की डीलिंग, पुलिस ने गिरफ्तार किया हाई प्रोफाइल महिला

दुकानदारों को अपने पेटीएम वॉलेट में किए गए सारे लेनदेन की राशि को अपने बैंक खातों में भेजने के लिए अभी एक प्रतिशत का लेनदेन शुल्क (मर्चेंट डिस्काउंट रेट-एमडीआर) देना होता है. Also Read - कोरोना की जंग में मदद के लिए आगे आया पेटीएम, पीएम केयर फंड में देगा 100 करोड़ का दान

पेटीएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सौरभ शर्मा ने कहा कि वॉलेट में पैसा डालने के लिए बैंक हमसे एक शुल्क लेते हैं और अब हम यह एक प्रतिशत एमडीआर अपने दुकानदार ग्राहकों को लौटा देंगे. इससे उन्हें दोगुना लाभ होगा. एक तो उनकी लागत कम होगी, दूसरा वह उसके मंच पर कई सारी वित्तीय योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे. Also Read - कोरोना वायरस: पेटीएम का 500 करोड़ रुपए का योगदान देने का लक्ष्य

कंपनी ने कहा कि उसने 100 करोड़ रुपये की राशि अलग से रखी है. इसे कोरोना वायरस महामारी के दौरान किराना दुकानदारों को ज्यादा से ज्यादा डिजिटल सुविधा उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करने पर इस्तेमाल किया जाएगा.