नई दिल्ली: पेट्रोल और डीजल के दाम शनिवार को लगातार 10वें दिन उपभोक्ताओं को राहत मिली. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आने से पेट्रोल और डीजल के दाम में लगातार गिरावट का सिलसिला जारी है. पिछले एक महीने में दिल्ली में पेट्रोल 6.54 रुपये और डीजल 6.43 रुपये प्रति लीटर सस्ता हुआ है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में शुक्रवार को फिर कच्चे तेल के दाम में एक फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई. Also Read - 1 अप्रैल से पेट्रोल-डीजल के कीमतों में होगी बढ़ोतरी, सभी पंपों पर मिलेंगे BS-VI ईंधन

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर बुरी खबर, दूसरी तिमाही में GDP में तेज गिरावट Also Read - भारत के लिए अगले 3 महीने चीनी निर्यात का अच्छा मौका, अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्राजील से मिल सकती है चुनौती

कहां चुकानी होगी कितनी कीमत-
तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली और मुंबई में पेट्रोल के भाव में 34 पैसे प्रति लीटर की कटौती की, जबकि कोलकाता में पेट्रोल 33 पैसे और चेन्नई में 36 पैसे प्रति लीटर सस्ता हुआ. डीजल के दाम में दिल्ली में 37 पैसे, कोलकाता में 49 पैसे, मुंबई में 39 पैसे और चेन्नई में 40 पैसे प्रति लीटर की कटौती की गई. इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में शनिवार को पेट्रोल के भाव क्रमश: 72.53 रुपये, 74.55 रुपये, 78.09 रुपये और 75.26 रुपये प्रति लीटर दर्ज किए गए. चारों महानगरों में डीजल की कीमतें क्रमश: 67.35 रुपये, 69.08 रुपये, 70.50 रुपये और 71.12 रुपये प्रति लीटर दर्ज की गईं. विदेशी वायदा एक्सचेंजों पर सबसे सक्रिय वायदा सौदों में ब्रेंट क्रूड का भाव 59.19 डॉलर प्रति बैरल और डब्ल्यूटीआई का भाव 50.70 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ. Also Read - क्रूड पर कोरोना वायरस का कहर, 4 लाख बैरल रोजाना मांग घटने के आसार

हो जाइए तैयार, चेक बुक, ATM इस्तेमाल और अतिरिक्त क्रेडिट कार्ड के लिए देना पड़ सकता है चार्ज

एंजेल ब्रोकिंग हाउस के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता (कमोडिटी व करेंसी रिसर्च) ने कहा कि पेट्रोल और डीजल का भाव और दो से तीन रुपये कम हो सकता है, क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अक्टूबर में चार साल के उच्च स्तर पर जाने बाद ब्रेंट क्रूड में करीब 27 डॉलर प्रति बैरल की कमी है. उन्होंने कहा कि कच्चा तेल सस्ता होने से डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूत हुआ है और आयात बिल इजाफा होने से चालू खाते का घाटा बढ़ने की चिंता भी अब कम होगी. (इनपुट एजेंसी )