नई दिल्ली: कच्चे तेल के दाम में पिछले दिनों आई गिरावट के बाद से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट से उपभोक्ताओं को राहत मिलने का सिलसिला जारी है. भारतीय तेल विपणन कंपनियों ने शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन पेट्रोल और डीजल के दाम में कटौती की. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में हालांकि कच्चे तेल में भाव फिर तेजी लौटी है. तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली और कोलकाता में पेट्रोल के दाम में 19 पैसे और मुंबई में 18 पैसे और चेन्नई में 20 पैसे प्रति लीटर की कटौती की है. वहीं, डीजल के दाम दिल्ली और कोलकाता में 14 पैसे जबकि मुंबई और चेन्नई में 15 पैसे प्रति लीटर घट गए हैं.

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल की कीमतें घटकर क्रमश: 69.55 रुपये, 71.65 रुपये, 75.18 रुपये और 72.16 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं.

चारों महानगरों डीजल के दाम क्रमश: 63.62 रुपये, 65.37 रुपये, 66.57 रुपये और 67.16 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं. दिल्ली-एनसीआर स्थित नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम में पेट्रोल की कीमतें क्रमश: 69.60 रुपये, 69.47 रुपये, फरीदाबाद 70.84 रुपये और 70.63 रुपये प्रति लीटर दर्ज की गईं. वहीं डीजल इन चारों शहरों में क्रमश: 63.10 रुपये, 62.96 रुपये, 63.92 रुपये और 63.71 रुपये लीटर मिल रहा है.

उधर, विदेशी बाजार में कच्चे तेल के दाम में तेजी के संकतों से भारतीय वायदा बाजार में भी कच्चे तेल के सौदों में बढ़त के साथ कारोबार चल रहा था. पूर्वाह्न् 11.11 बजे मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर कच्चे तेल के जनवरी एक्सपायरी अनुबंध में पिछले सत्र के मुकाबले 29 रुपये यानी 0.91 फीसदी की बढ़त के साथ 3,212 रुपये प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था, इससे पहले भाव 3,227 रुपये प्रति बैरल तक उछला.

वहीं, विदेशी वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज यानी आईसीई पर ब्रेंट क्रूड का मार्च डिलीवरी अनुबंध पिछले सत्र के मुकाबले 1.74 फीसदी की तेजी के साथ 53.65 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था.

वहीं, न्यूयार्क मार्केंटाइल एक्सचेंज यानी नायमैक्स पर वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट यानी डब्ल्यूटीआई का फरवरी डिलीवरी सौदा 2.17 फीसदी की तेजी के साथ 45.30 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था.

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल में पिछले सत्र में आई गिरावट के बाद रिकवरी देखी जा रही है जबकि अमेरिकन पेट्रोलियम इंस्टीट्यूट की ताजा रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में पिछले सप्ताह कच्चे तेल का भंडार 69 लाख बैरल बढ़कर 44.82 करोड़ बैरल हो गया है. तेल का भंडार बढ़ने कीमतों पर दबाव आ सकता है. जानकार बताते हैं कि बाजार को फिलहाल अमेरिका की इनर्जी इन्फोरमेशन एजेंसी द्वारा शुक्रवार को जारी होने वाले आंकड़ों का इंतजार है.

(इनपुट-आईएएनएस)