Petrol Price Hike: तेल विपणन कंपनियों (Oil marketing Companies) ने मंगलवार को ईंधन की कीमतों में से बढ़ोतरी की गई. इसके लिए यह तर्क दिया जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की दरों में मजबूती जारी है. आज पेट्रोल की कीमतों में करीब 27 पैसे की बढ़ोतरी हुई है जबकि डीजल की कीमतों में 29 पैसे की बढ़ोतरी हुई है. Also Read - Petrol Price Hike: रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचीं तेल की कीमतें, बेंगलुरु में पहली बार पेट्रोल 100 रुपये के पार

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में ताजा बढ़ोतरी एक दिन के अंतराल के बाद हुई है. Also Read - Petrol Price Hike: ईंधन की कीमतों में फिर से बढ़ोतरी, देश भर में पेट्रोल शतक के निशान के करीब, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली में पेट्रोल 92.85 रुपये प्रति लीटर और डीजल 83.51 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है. ताजा बढ़ोतरी के बाद मुंबई में पेट्रोल की कीमत 99 रुपये प्रति लीटर को पार कर गई है, जबकि डीजल 91 रुपये प्रति लीटर के पार होने से कुछ ही दूर है. Also Read - ईंधन की कीमतों में रुकी बढ़ोतरी, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में नहीं हुआ कोई बदलाव. देखें तस्वीरें

अन्य सभी प्रमुख शहरों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की गई है. बता दें, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और राजस्थान के कुछ जिलों में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर को पार कर गई है.

लगभग दो महीने के अंतराल के बाद, जब कीमतों को नियंत्रित किया गया था, इस महीने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर से अधिक की बढ़ोतरी की गई है. तेल की कीमतों को इसलिए नियंत्रित किया गया था क्योंकि देश के कई राज्यों में विधानसभा के चुनाव चल रहे थे.

तेल विपणन कंपनियां इस अवधि के दौरान हुए नुकसान की रिकवरी के लिए कीमतों में बढ़ोतरी कर रही है. जिसके लिए तर्क दिया जा रहा है कि वैश्विक कच्चे तेल की दरों में उछाल देखा जा रहा है. लेकिन, उस समय कोई तर्क नहीं दिया जाता है जब कीमतों में कमी आती है.

गौरतलब है कि पेट्रोल और डीजल दोनों की कीमतें भारत में रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं और नागरिकों और व्यवसायों के लिए चिंता का विषय बन रही हैं. यह केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा ऑटो ईंधन दोनों पर लगाए जाने वाले करों की उच्च दर के कारण है.