नई दिल्ली/ मुंबई: एक दिन के ठहराव के बाद गुरुवार को ईंधन कीमतों में फिर वृद्धि हुई और पेट्रोल 79.51 रुपए प्रति लीटर और डीजल 71.55 रुपए प्रति लीटर की ऊंची दर पर बिकी, जिसने पिछले सभी रिकार्डस को तोड़ दिए. वहीं, महाराष्ट्र के परभणी में पेट्रोल-डीजल की कीमत 88.77 रुपए पहुंच चुकी है, जो शायद देश में सबसे ज्यादा है. Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव पाया गया छह दिन का शिशु, राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 335 हुई

परभणी जिला पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय देशमुख ने कहा कि यहां तक कि डीजल की कीमत भी तेजी से बढ़ रही है और गुरुवार को 76.59 रुपए प्रति लीटर पर बिकी, जिससे आम लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. बता दें वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि ईंधन कीमतों में बढ़ोतरी पर सरकार को तुरंत कोई कदम उठाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि के कारण बढ़ रहा है. Also Read - महाराष्‍ट्र में COVID19 के 72 नए केस के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 302

– मुंबई में पेट्रोल कीमतों में 19 पैसे की वृद्धि हुई और यह 86.91 रुपए प्रति लीटर की दर पर बिका
– मुंबई में डीजल 22 पैसे की वृद्धि के साथ 75.96 रुपए प्रति लीटर रहा
– अन्य दो महानगरों चेन्नई और कोलकाता में ईंधन की कीमतों में 19 पैसे से लेकर 22 पैसे की बढ़ोतरी हुई. Also Read - महाराष्ट्र में Covid-19 संक्रमण के 5 नए मामले, राज्‍य में संख्या बढ़कर 230 हुई

– चेन्नई में पेट्रोल 21 पैसे की बढ़ोतरी- 82.62 रुपए प्रति लीटर
— डीजल की कीमतों में चेन्नई में 22 पैसे की बढ़ोतरी
– चेन्नई में डीजल 75.61 रुपए प्रति लीटर
– कोलकाता में पेट्रोल 19 पैसे की बढ़ोतरी , 82.41 रुपए प्रति लीटर रहा
– कोलकाता में डीजल 21 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 74.40 रुपए प्रति लीटर रहा
महाराष्ट्र में पेट्रोल की कीमत 88.77 रुपए पहुंची
मुंबई: राज्य के सबसे बड़े सार्वजनिक त्योहार गणेशोत्सव से कुछ हफ्ते पहले, महाराष्ट्र के परभणी में पेट्रोल-डीजल की कीमत 88.77 रुपए पहुंच चुकी है, जो शायद देश में सबसे ज्यादा है. परभणी जिला पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय देशमुख ने कहा कि यहां तक कि डीजल की कीमत भी तेजी से बढ़ रही है और गुरुवार को 76.59 रुपए प्रति लीटर पर बिकी, जिससे आम लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

ऐसे तय होती है पेट्रोल-डीजल की कीमत, ग्राहकों तक पहुंचते ही हो जाता है महंगा

अखिल महाराष्ट्र पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन (फम्पेडा) के अध्यक्ष उदय लोध ने कहा कि अमरावती में पेट्रोल 88.25 रुपए और औरंगाबाद में 87.96 रुपए प्रति लीटर है. नागपुर में 87.39 रुपए, मुंबई में 86.91 रुपए और पुणे के लिए 86.71 रुपए प्रति लीटर पर है.

ऑल इंडिया पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के प्रवक्ता अली दारुवाला ने कहा कि महाराष्ट्र में पेट्रोल की औसत दर 86.80 रुपए और डीजल की 74.69 रुपए है, जो 0.25 रुपए से कम/ज्यादा है. उन्होंने कच्चे तेल की कीमतों में तेजी का कारण कच्चे तेल की कीमत 77 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंचने और डॉलर के खिलाफ रुपए की गिरावट 72 रुपए प्रति डॉलर तक पहुंचने को बताया.

अंतरराष्ट्रीय राजनीतिक-आर्थिक फैक्टर्स के अलावा ईरान और ओपेक देशों के द्वारा कच्चे तेल के उत्पादन में वृद्धि नहीं करना भी शामिल है. दारुवाला ने कहा कि वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों में हर एक डॉलर की बढ़ोतरी से भारत में 1.50 रुपए प्रति लीटर पेट्रोल की कीमत बढ़ सकता है.
लगातार पिछले दस दिनों से बढ़ रही कीमतें
इंडियन ऑयल कार्पोरेशन (आईओसी) के मुताबिक पेट्रोल की कीमत में 20 पैसे की बढ़ोतरी हुई, जो एक दिन परले 79.31 रुपए प्रति लीटर की दर पर बिकी थी, जबकि डीजल की कीमतों में 21 पैसे की बढ़ोतरी हुई, जो एक दिन पहले 71.34 रुपये प्रति लीटर की दर पर बेची गई थी. ईंधन कीमतें मंगलवार तक लगातार पिछले दस दिनों से बढ़ रही थी.

ये हैंं खास वजह
ईधन कीमतों में बढ़ोतरी का मुख्य कारण कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी और सरकार द्वारा इन पर वसूले जाने वाले उच्च उत्पाद कर है. इसके अलावा हाल ही में डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत में आई ऐतिहासिक गिरावट ने भी कच्चे तेल के आयात को महंगा बना दिया है, जिसका असर ईंधन कीमतों पर हो रहा है.