Indian Railway: भारतीय रेलवे (Indian Railway) 6 जनवरी से ट्रेनों का किराया बढ़ाने जा रहा है. कितना किराया बढ़ाने जा रहा है, इसे लेकर खबरों में कहा गया है कि टिकटों की कीमत में 15 रुपये का आरक्षण शुल्क शामिल किया गया है और आज से ही यानि 6 जनवरी से ही ट्रेनों के टिकट के दाम बढ़ जाएंगे. लेकिन रेलवे ने इस तरह की समाचारों का खंडन किया है कि किराया बढ़ाये जाने की सूचना गलत है.Also Read - Indian Railways: तूफान Jawad के कारण कल-परसों के लिए ये 95 ट्रेनें रद्द, देखें पूरी लिस्ट

खबरों में कहा गया है कि जल्द ही रेलवे उन ट्रेनों के संचालन को दोबारा शुरू करने की तैयारी कर रहा है, जो कोरोना वायरस महामारी की वजह से रोक दी गई थीं. हालांकि, इन ट्रेनों के चलने से पहले ही छह जनवरी से कई ट्रेनों के किराये में बढ़ोतरी होने जा रही है. इसके साथ ही सीट आरक्षण अनिवार्य रहेगा क्योंकि इससे यात्रियों की संख्या के दबाव में कमी आएगी. Also Read - Indian Railway Sarkari Naukri: रेलवे ने 500 से भी ज्यादा पदों पर भर्ती के लिए मांगे आवेदन, यहां पढ़िए डिटेल्स

खबरों में कहा गया था कि सभी टिकटों की कीमत में 15 रुपये का आरक्षण शुल्क शामिल किया जाएगा. आरक्षण ऑनलाइन या टिकट विंडो से करवाया जा सकता है. हालांकि, टिकट विंडो ट्रेन के चलने के निर्धारित समय से 30 मिनट पहले तक खुली रहेगी. नए दिशा-निर्देशों के आरक्षण अनिवार्य रहेगा, फिर यात्रा की दूरी कितनी भी कम क्यों न हो. Also Read - Railway Recruitment 2021: रेलवे में सरकारी नौकरी का फिर सुनहरा अवसर, जल्दी करें आवेदन

पीआईबी ने इस खबर का फैक्ट चेक किया है और बताया है कि ऐसी कई खबरें चल रही हैं कि इंडियन रेलवे 6 जनवरी से ट्रेनों का किराया बढ़ाने की योजना बना रही है. पीआईबी फैक्ट चेक में बताया गया है कि ये खबर पूरी तरह से भ्रामक है, रेलवे ने ऐसी कोई योजना नहीं बनाई है.