PM Kisan Samman Nidhi Yojana: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Yojna) योजना में फर्जीवाड़े की घटनाएं सामने आ रही हैं. कई जगह से अपात्र लोगों के अकाउंट में पैसे पहुंचने की खबरें आ रही हैं. पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Scheme) के पैसे उनके अकाउंट में भी पहुंच रहे हैं, जिन्होंने कभी खुद को रजिस्टर्ड ही नहीं कराया. Also Read - PM Kisan Samman Nidhi Yojana: बढ़ सकती है पीएम किसान योजना की राशि, 6000 रुपये से होगी ज्यादा

एक्टर भगवान हनुमान, ISI जासूस महबूब अख्तर और एक्टर रितेश देशमुख के नाम से पीएम किसान योजना अकाउंट बनाया गया है. इनके आधार कार्ड सार्वजनिक रूप से मौजूद हैं. हुनमान के अकाउंट में 6,000, महबूब अख्तर के अकाउंट में 4,000 रुपये और रितेश देशमुख के अकाउंट में 2000 रुपये भेजे गए हैं. Also Read - PM Kisan Samman Nidhi Scheme: जल्द ही 8वीं किस्त होगी जारी, इस राज्य के किसानों को भी मिलेंगे 6000 रुपये

मनी कंट्रोल में छपी एक खबर के मुताबिक एक ऐसी ही खबर सामने आई है, जिसमें UIDAI और TRAI के पूर्व चीफ राम सेवक शर्मा  के SBI अकाउंट में साल में तीन बार पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 6,000 रुपये भेजे गए हैं, जबकि शर्मा ने बताया कि उन्होंने इस स्कीम के लिए कभी रजिस्ट्रेशन ही नहीं कराया था. फिर भी उनका रजिस्ट्रेशन हो गया. कहा कि ‘इसकी जिम्मेदारी राज्य सरकार की है. राज्य सरकार ने बिना पहचान किए कैसे वेरिफिकेशन कर दिया.’ Also Read - PM Kisan Samman Nidhi Scheme में बड़ा खुलासा, 20 लाख अयोग्य लाभार्थियों को दे दिए गए 1,364 करोड़ रुपये

उन्होंने बताया कि पीएम किसान सम्मान निधि के तहत मेरे बैंक अकाउंट में 2,000 रुपये की राशि 3 किस्तों में भेजी गई है. शर्मा के नाम से यह अकाउंट 8 जनवरी 2020 को खोला गया था और करीब नौ महीने एक्टिव रहा था. 24 सितंबर को यह डीएक्टिवेट हो गया. शर्मा ने आगे बताया कि वो उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले में एक किसान के तौर पर रजिस्टर्ड थे.

शर्मा ने बताया कि उनका SBI अकाउंट जिसमें पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत पैसे भेजे गए थे, वह एक हिंदू अविभाजित परिवार का अकाउंट है. जिसका उपयोग कृषि उपज और व्यय की बिक्री आय प्राप्त करने के लिए किया जाता था. मैं इस योजना के इलिजिबल हूं ही नहीं, फिर भी पैसे आ गए.