नई दिल्ली: विश्‍वव्‍यापी कोरोना वायरस संक्रमण की महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक मीटिंग बुलाकर देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए अहम चर्चा की और एक योजना तैयार करने पर विचार-विमर्श किया. Also Read - COVID-19 से जूझ रहे भारत के लिए भारतीय-अमेरिकी डॉक्टर भेज रहे 5,000 ऑक्‍सीजन कंसंट्रेटर

पीएम मोदी ने गुरुवार को कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय निवेश बढ़ाने के साथ साथ अधिक विदेशी निवेश आकर्षित करने के विभिन्न उपायों पर मंत्र‍ियों और सीनियर अधिकारियों विस्तार से चर्चा की. Also Read - COVID-19 Cases on 8 May 2021: देश में कोरोना से 24 घंटे में 4,187 मौतें, आज फिर नए मामले 4 लाख के पार

प्रधानमंत्री कार्यालय के एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने एक बैठक की. पीएम नरेंद्र मोदी ने आज COVID19 महामारी की पृष्ठभूमि के खिलाफ अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए भारत में और अधिक विदेशी निवेश को आकर्षित करने और स्थानीय निवेश को बढ़ावा देने के लिए रणनीतियों पर चर्चा करने के लिए एक व्यापक बैठक की. Also Read - World's Largest Cargo Plane: ब्रिटेन ने भारत भेजा दुनिया का सबसे बड़ा मालवाहक विमान, तीन ऑक्सीजन जेनरेटर सहित ला रहा है बड़ी मदद


बैठक में इस बात पर चर्चा की गई कि देश में मौजूदा औद्योगिक भूमि, भूखंडों, परिसरों आदि में परखे हुए, तैयार बुनियादी ढांचे के काम को बढ़ावा देने के लिए एक योजना विकसित की जानी चाहिए और इन्हें जरूरी वित्तीय समर्थन भी उपलब्ध कराया जाना चाहिए

पीएम मोदी ने बैठक के दौरान सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि निवेशकों को बनाए रखने, उनकी समस्याओं को देखने तथा उन्हें समयबद्ध तरीके से सभी आवश्यक केंद्रीय और राज्य मंजूरियां प्राप्त करने में मदद करने के हर संभव कदम सक्रियता से उठाए जाने चाहिए. बैठक में तेजी से देश में निवेश लाने और भारतीय घरेलू क्षेत्र को बढ़ावा देने की विभिन्न रणनीतियों पर भी चर्चा हुई.