One Nation One Market For Farmers : देश के लाखों किसानों को मोदी सरकार (Modi Government) ने एक बड़ी राहत दी है. एक हफ्ते के अंदर दूसरी कैबिनेट बैठक में पीएम मोदी ने किसानों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है. देशभर के किसान अब देश में कही भी अपनी फसल को बेच सकेंगे. मोदी सरकार ने एक देश एक बाजार नीति को मंजूरी दे दी है.Also Read - PM Modi की आलोचना वाले पोस्टरों को बताया 'अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता', SC पहुंचा तो पड़ी फटकार

सोमवार को हुई कैबिनेट बैठक में पीएम मोदी ने कई बड़े फैसले लिए. इसी बैठक में किसानों के हित को देखते हुए एक देश एक बाजार नीति को लागू करने का फैसला लिया गया. आपको बता दें कि इससे पहले किसानों को अपनी फसल सिर्फ एग्रीकल्चर प्रोडक्ट मार्केट कमेटी की मंडियों में ही अपनी फसल बेचनी की बाध्यता होती थी लेकिन अब एक देश एक बाजार नीति लागू होन के बाद किसी इस बाध्यता से हट जाएंगे. Also Read - Man Ki Baat: मन की बात में बोले पीएम मोदी-पर्व और त्योहार मनाते समय याद रखें, कोरोना अभी गया नहीं है

बता दें कि पिछले महीने जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ पैकेज की घोषणा की थी तभी उन्होंने एग्रीकल्चर रिफॉर्म में बदलाव की बात भी कही थी. एक देश एक बाजार शुरू होने के बाद अब किसान को अपनी फसल के लिए जहां भी ज्यादा दाम मिलेंगे वह वहां फसल बेचने लिए पूरी तरह से फ्री होगा. इस नीति को लागू करने के लिए सरकार एसेंशियल कमोडिटी एक्ट 1955 में भी बदलाव कर रही है. Also Read - Tokyo Olympics 2020: टोक्यों ओलंपिक का हुआ आगाज, पीएम मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी शुभकामनाएं

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पीएम मोदी की सरकार द्वारा लिया गए इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा किसानों के लिए यह एक बड़ा राहत भरा कदम है. उन्होंने कहा कि हमारे देश में अधिकतक छोटे किसान है और उन्हें अक्सर अपनी फसल का उचित दाम नहीं मिल पाता. उन्होंने कहा कि किसानों की हालत में सुधार लाने के लिए केंद्र आवश्यक बदलाव कर रही है.

कृषि मंत्री ने बताया कि कृषि मंडी के बाहर किसान की उपज की खरीद-बिक्री पर किसी भी सरकार का कोई टैक्स नहीं होगा. और न ही कोई कानूनी बंधन होगा. ओपन मार्केट होने से प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और इससे किसानों की आमदनी बढ़ेगी. जिन व्यक्ति पास पैन कार्ड होगा, वह किसान के उत्पाद खरीद सकता है.