PM Kisan Samman Yojana 2021: पीएम किसान सम्मान योजना के तहत 9वीं किस्त का इंतजार कर रहे किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी है. आज दोपहर 12.30 बजे ने पीएम नरेंद्र मोदी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-Kisan) योजना की नौवीं किस्त किसानों के खाते में जारी की. इससे पहले प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया था कि इस किस्त में 9.75 करोड़ से ज्यादा किसान परिवारों के खाते में आज 19,500 करोड़ रुपये भेजे जाएंगे. इस दौरान प्रधानमंत्री राष्ट्र को संबोधित करने के साथ ही लाभार्थी किसानों से बातचीत भी करेंगे.Also Read - Man Ki Baat: अमेरिका से लौटे पीएम मोदी, मन की बात में दी नसीहत-त्योहारों में खास सतर्कता है जरूरी

बता दें कि पीएम-किसान योजना ()PM Kisan Yojana) के तहत हर पात्र किसान परिवार को प्रतिवर्ष छह हजार रुपये दिए जाते हैं. ये 2000 रुपये की तीन समान किस्तों में सीधे उनके बैंक अकाउंट में हस्तांतरित किए जाते हैं. इस योजना के जरिए अब तक 1.38 लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि किसान परिवारों को भेजी जा चुकी है. Also Read - UNGA के 76वें सत्र को आज संबोधित करेंगे पीएम मोदी, वंदे मातरम-भारत माता की जय से गूंजा न्यूयॉर्क, देखें वीडियो

Also Read - PM Kisan Big News : इन कर्मचारियों को बड़ा झटका, अगर नहीं लौटाया पीएम किसान का पैसा, तो रुकेगा इन्क्रीमेंट

आज पीएम मोदी ने दोपहर 12.30 बजे किसानों के खाते में पैसे भेजने के बाद लाभार्थी किसानों से बातचीत करेंगे. इस मौके पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद रहेंगे. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 मई को इस योजना की आठवीं किस्त जारी की थी.

आपके एकाउंट में पैसे आए या नहीं, ऐसे चेक करें….

आपके खाते में पैसा आया या नहीं यह पता करने के लिए

सबसे पहले पीएम किसान स्कीम की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं.

इसके दाहिने किनारे पर फार्मर्स कार्नर पर क्लिक करें.

इसके बाद एक पेज खुलेगा उस पर बेनेफिशियरी स्टेटस का आप्शन आएगा, उस पर क्लिक करें.

ऑप्शन पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा.

यहां अपना आधार नंबर, मोबाइल नंबर डालें.

आधार या मोबाइल नंबर डालते ही आपका स्टेटस दिखेगा और पता चल जाएगा कि आपके एकाउंट में पैसे आए या नहीं.

नए नियमों के मुताबिक सरकारी कर्मचारी या आयकर देने वाले किसानों को इसका पात्र नहीं माना गया है. इसके अलावा डाक्टर, इंजीनियर, सीए और 10 हजार रुपये से अधिक पेंशन पाने वाले कर्मचारी भी इस योजना में शामिल नहीं हो सकते.