PM Shram Mandhan Yojana: कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण ने ऐसा कहर बरपा रखा है कि तमाम फैक्ट्रियां बंद होने से लाखों लोगों का रोजगार छिन गया है. ऐसे में पैसा कमाना अब एक बड़ी समस्या बन गया है. हर कोई पैसा कमाना चाहता है, जिससे वह घर का खर्चा आसानी से चला सके. ऐसे में पीएम मोदी सरकार भी लोगों की मदद के लिए आगे आ रही है, ताकि लोगों के आर्थिक संकट को दूर किया जा सके. इस बीच अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) के लाभार्थी हैं तो यह खबर आपके बहुत काम आने वाली है. सरकार इस योजना से जुड़े लोगों को बड़ा फायदा देने में लगी हुई है. सरकार पीएम श्रम योगी मानधन योजना (PM Shram Mandhan Yojana) संगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक बेहतर योजना है.Also Read - PM Kisan Samman Yojana: PM किसान सम्मान की 10 वीं किस्त खाते में आने बाद जानिए- कौन लोग ज्यादा उठा रहे हैं इसका लाभ?

इस योजना के तहत इसी तरह के कई अन्य कार्यों में लगे असंगठित क्षेत्र से जुड़े रेहड़ी-पटरी वालों, रिक्शाचालकों, निर्माण श्रमिकों और मजदूरों को उनके बुढ़ापे को सुरक्षित करने में मदद की जाएगी. इस योजना के तहत प्रतिदिन सिर्फ 2 रुपये की बचत करके आप सालाना 36000 रुपये की पेंशन प्राप्त कर सकते हैं. Also Read - PM Kisan Samman Yojana: नए साल के पहले दिन किसानों को मिलेगा तोहफा, किसानों के खाते में पहुंचेगी 10वीं किस्त

वहीं, इस योजना को शुरू करने पर आपको हर महीने 55 रुपये जमा करने होंगे. 18 साल की उम्र में रोजाना करीब 2 रुपये की बचत करके आप सालाना 36000 रुपये पेंशन पा सकते हैं. अगर कोई व्यक्ति 40 साल की उम्र से इस योजना को शुरू करता है तो उसे हर महीने 200 रुपये जमा करने होंगे. Also Read - PM Kisan 10th Installment Date 2021: ...तो किसानों के खाते में आज ट्रांसफर होगी 10वीं किस्त की रकम?

60 साल की उम्र पूरी होने पर 3000 रुपये प्रतिमाह पेंशन के तौर पर मिलने लगेंगे यानी 36000 रुपये सालाना मिलेंगे. वहीं इस योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास एक बचत बैंक खाता और आधार कार्ड होना चाहिए. व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से कम और 40 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए.

चेक करें डिटेल्स

इसके लिए आपको कॉमन सर्विस सेंटर में योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा. श्रमिक सीएससी केंद्र में पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकते हैं. इस योजना के लिए सरकार ने एक वेब पोर्टल बनाया है. इन केंद्रों के माध्यम से ऑनलाइन सारी जानकारी भारत सरकार के पास जाएगी.

वहीं रजिस्ट्रेशन के लिए आपको अपने आधार कार्ड, बचत या जन धन बैंक खाते की पासबुक, मोबाइल नंबर की जरूरत होगी. इसके अलावा सहमति पत्र देना होगा जो उस बैंक शाखा में भी देना होगा जहां कर्मचारी का बैंक खाता होगा, ताकि समय पर पेंशन के लिए उसके बैंक खाते से पैसे काटे जा सकें.