मुंबईः देश के बैंकिंग इतिहास की सबसे बड़ी बैंक धोखाधड़ी के मुख्य कर्ताधर्ता नीरव मोदी ने कहा है कि पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने मामले को सार्वजनिक कर उससे बकाया वसूलने के सारे रास्ते बंद कर लिए हैं. Also Read - PNB Scam: भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की रिमांड 7 जनवरी तक बढ़ाई गई

इसके साथ ही मोदी का दावा है कि पीएनबी का उसकी कंपनियों पर बकाया बैंक द्वारा बताई गई राशि से बेहद कम है. Also Read - PNB Scam: ब्रिटेन की अदालत ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की हिरासत अवधि 29 दिसंबर तक बढ़ाई

Also Read - लंदन की अदालत में नीरव मोदी की जमानत याचिका लगातार सातवीं बार खारिज : सीबीआई

पीएनबी प्रबंधन को 15/16 फरवरी को लिखे एक पत्र में मोदी ने कहा कि उसकी कंपनियों पर बैंक का बकाया 5,000 करोड़ रुपये से कम है. पत्र के अनुसार गलत तौर पर बताई गई बकाया राशि से मीडिया में होहल्ला हो गया और परिणाम स्वरूप तत्काल तौर पर खोज का काम शुरू हो गया और परिचालन भी बंद हो गया. पत्र में मोदी ने लिखा है कि इससे समूह पर बैंक के बकाया को चुकाने की हमारी क्षमता खतरे में पड़ गई है.

यह भी पढ़ेंः PNB घोटाला : शेट्टी ने तोड़ा हर नियम, नीरव मोदी के लोगों को पासवर्ड तक दे दिया

गौरतलब है कि मोदी, अपने परिवार समेत जनवरी के पहले हफ्ते में ही देश छोड़कर भाग गया था. उसने कहा कि 13 फरवरी को की गई मेरी पेशकश के बावजूद बकाया को तत्काल पाने की व्यग्रता में (बैंक ने जानकारी 14/15 फरवरी को सार्वजनिक की) आपकी (बैंक) कार्रवाई ने मेरे ब्रांड और कारोबार को तबाह कर दिया और इससे अब बकाया वसूलने की आपकी क्षमता सीमित हो गई है.

पंजाब नेशनल बैंक में 11 हजार करोड़ रुपए से ज्‍यादा के घोटाले में आरोपी नीरव मोदी के घर और दफ्तरों पर सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय लगातार छापेमारी कर रही है. ईडी ने अब तक करीब साढ़े पांच हजार करोड़ की संपत्ति जब्त की है जिसमें बड़ी तादाद में सोने-हीरे के जवाहरात और कीमती पत्थर शामिल हैं.

यह भी पढ़ेंः CVC ने PNB और वित्त मंत्रालय के अफसरों से पूछा, कैसे हो गया इतना बड़ा घोटाला?

एजेंसियों की जांच जैसे जैसे आगे बढ़ रही है, इनके बाकी कारनामों का भी खुलासा हो रहा है. इस घोटाले के बाद पता चला है कि इनकी कंपनियां किस कदर खस्ता हालत में थी. इन दोनों के पासपोर्ट भी सस्पेंड किए जा चुके हैं. इसके बावजूद दिन रात जांच जुटी एजेंसियों को भी अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि दोनों किस देश में हैं.