Private Trains News: देश में प्राइवेट ट्रेनों (Private Trains) को चलाने की दिशा में सरकार तेजी से आगे बढ़ रही है. भारत में प्राइवेट ट्रेनों के परिचालन में बॉम्बार्डियर (Bombardier), एल्सटॉम (Alstom), सीमेंस (Siemens) और जीएमआर (GMR) सहित 23 देशी-विदेशी कंपनियों ने रुचि दिखाई है. रेलवे (Railways) ने प्राइवेट ट्रेन चलाने में दिलचस्पी रखने वाली इन निजी कंपनियों के सामने इससे जुड़ी कुछ मांगें रखी हैं. बुधवार को इस बाबत एक बैठक भी हुई है. रेलवे ने इसकी जानकारी दी है. रेलवे के ड्राफ्ट के अनुसार, ‘इन ट्रेनों में इलेक्ट्रॉनिक स्लाइडिंग डोर, डबल ग्लेज्ड सेफ्टी ग्लास की खिड़कियां, इमरजेंसी टॉक-बैक तंत्र और यात्री निगरानी प्रणाली और सूचना एवं गंतव्य बोर्ड होने चाहिए. Also Read - PNR STATUS IRCTC Special Train: अनलॉक 4.0 में स्पेशल ट्रेन में टिकट किया है बुक तो अपने व्हाट्सएप से ऐसे चेक करें पीएनआर स्टेटस

इसके साथ-साथ ये ट्रेनें यात्रियों को शोर-मुक्त यात्रा प्रदान करेंगी और 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने में सक्षम होंगी. इसके साथ-साथ इन ट्रेनों में इमरजेंसी ब्रेक भी लगाए जाएंगे. इससे 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली इन ट्रेनों को आपात स्थिति में 1250 मीटर से भी कम दूरी पर रोका जा सकेगा. इसके अलावा ट्रेनों को कम से कम 35 साल तक चलने के लिए डिजाइन किया जाएगा. Also Read - Bihar Special Train List/ Indian Railway: बिहार के लिए आज से शुरू होंगी 20 से ज्यादा नई स्पेशल ट्रेन, जानें आने-जानें की टाइमिंग

निजी ट्रेन ऑपरेटरों को कम से कम 95% टाइम की पाबंदी का पालन करना होगा. अगर ट्रेनें लेट होती हैं तो उन्हें रेलवे को मुआवजा देना होगा. इसके साथ-साथ ट्रेनों चलाने के लिए बोली प्रक्रिया में भाग लेने की अंतिम तिथि 8 सितंबर है. Also Read - Indian Railways/IRCTC : आज से पटरी पर दौड़ेंगी 40 स्पेशल क्लोन ट्रेनें, रूट्स, स्टॉपेज और टाइमिंग- यहां जानें सबकुछ....

बता दें कि भारतीय रेलवे ने 2023 में 12 प्राइवेट ट्रेन के पहले सेट को शुरू करने की योजना बनाई है.