Property | Realty News: भारत के सात बड़े शहरों में पिछली तिमाही के मुकाबले अक्तूबर-दिसंबर तिमाही में रिहायशी संपत्ति की बिक्री में 51 फीसदी की बढ़ोतरी का अनुमान जताया जा रहा है. रियल्टी सेक्टर पर परामर्श देने वाली जेएलएल इंडिया (JLL India) ने बताया कि त्योहारों के दौरान मांग बढ़ने से प्रॉपर्टी की बिक्री तेजी से बढ़ी. हालांकि, महामारी के प्रभाव के कारण पूरे साल 2020 में प्रॉपर्टी की बिक्री में 48 फीसदी की गिरावट आ सकती है. Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए मुंबई को निकले महाराष्ट्र के हजारों किसान, आजाद मैदान में करेंगे रैली

आंकड़े के अनुसार, दिसंबर तिमाही के दौरान मकानों की बिक्री बढ़कर 21,832 इकाई रह सकती है, जो इससे पूर्व तिमाही जुलाई-सितंबर में 14,415 इकाई थी. Also Read - जिस सशक्त भारत की कल्पना नेताजी ने की थी आज देश उसी नक्शे कदम पर चल रहा है: पीएम मोदी

जेएलएल इंडिया के मुख्य कार्यपालक अधिकारी क्षेत्रीय प्रमुख रमेश नायर ने एक बयान में बताया कि जुलाई-सितंबर तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में सुधार उम्मीद से बेहतर दर्ज किया गया है. आवास क्षेत्र में भी सुधार के शुरुआती संकेत दिखे हैं. तिमाही आधार पर बिक्री 34 फीसदी बढ़ी है. रोजगार सुरक्षा और आय में कमी जैसे मसलों के बीच, बिक्री में तेजी बड़ी उपलब्धि है. Also Read - PM Modi in Kolkata: कोलकाता में बोले पीएम मोदी- वैक्सीन से दुनिया के देशों की मदद कर रहा है भारत, ये देख बड़ा गर्व करते नेताजी बोस

उन्होंने कहा कि देश के सात बड़े शहरों में रिहायशी मकानों की बिक्री में चौथी तिमाही में 51 फीसदी की बढ़ोतरी का अनुमान है. नायर ने कहा कि आवास बाजार में 2021 में वृद्धि का नया अध्याय देखने को मिल सकता है. जिसकी वजह सस्ता होने के साथ-साथ अपना मकान खरीदने की इच्छा और प्रवासी भारतीय जैसे कुछ श्रेणी के खरीदारों की तरफ से नए सिरे से आवास के प्रति रूचि है.

जेएलएल इंडिया के आंकड़े के अनुसार, सभी सातों शहरों में मांग में कमी से 2020 में आवास बिक्री 48 फीसदी घटकर 74,451 इकाइयां रहने का अनुमान है जो पिछले साल 1,43,923 इकाइयां थी.

बंगलूरु में बिक्री 2020 में घटकर 10,440 इकाई रही जो पिछले साल 26,453 इकाई थी. चेन्नई में मकानों की बिक्री इस साल 6,983 इकाई रही जो पिछले साल 13,967 इकाई थी. वहीं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली (Delhi NCR) में मांग घटकर 15,743 इकाई रही जो एक साल पहले 29,010 इकाई थी.

हैदराबाद में इस साल बिक्री घटकर 9,926 इकाई रही जो 2019 में 16,025 इकाई थी. कोलकाता में बिक्री 2020 में 2,568 इकाई रही जो पिछले साल 7,463 इकाई थी. महाराष्ट्र में मुंबई में मकानों की बिक्री 2020 में 19,545 इकाई रही जो पिछले साल 32,138 इकाई थी. वहीं पुणे में मांग घटकर 9,246 इकाई की रही जो पिछले साल 18,867 इकाई थी.

(Inputs from PTI)