चंडीगढ़: पंजाब सरकार के पेट्रोल और डीजल में लगने वाले वैट (वैल्यू एडेड टैक्स) में बड़ी कटौती करने से देश के अन्‍य राज्‍यों पर भी दबाव बढ़ गया है. दरअसल पंजाब की अमरिंदर सिंह की सरकार ने एक दिन पहले पेश किए बजट में ये बड़ी कटौती की है. इसके चलते सस्‍ता डीजल और पेट्रोल इस राज्‍य में बिकने लगा है. पंजाब सरकार ने पेट्रोल में 5 रुपए और डीजल में एक रुपए की कम की है. बता दें चंडीगढ़ और पंजाब में पेट्रोल व डीजल की कीमतों में अंतर क्रमश: 9 रुपए प्रति लीटर व 2 रुपए प्रति लीटर है. पेट्रोल पंप के मालिक क्षेत्र के दूसरे राज्यों की तरह करों में समानता की मांग कर रहे हैं. Also Read - 42 हमलों की FIR दर्ज कराई थी, फिर भी सुरक्षा हटाई गई, बलवंत सिंह की फैमिली का सरकार-प्रशासन पर सवाल

पंजाब सरकार ने सोमवार को राज्य के लिए प्रस्तुत किए गए वार्षिक बजट में पेट्रोल 5 रुपए और डीजल की दरों में एक रुपए की कटौती कर दी. वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि कम की गई कीमतें आधीरात से लागू होंगी. उन्होंने कहा कि आज (सोमवार की मध्यरात्रि) से पंजाब में पेट्रोल व डीजल सस्ता होगा. इस कमी के साथ क्षेत्र में डीजल की कीमत सबसे सस्ती हो जाएगी. Also Read - पंजाब: शौर्य चक्र से सम्मानित बलविंदर की गोली मार कर हत्या, सरकार ने कुछ समय पहले ही वापस ली थी सुरक्षा

वित्त मंत्री बादल ने कहा कि  राज्य में मूल्य में कमी को प्रभावी करने के लिए वैट (वैल्यू एडेड टैक्स) को कम किया गया है. बादल ने दृढ़ता के साथ कहा, “चंडीगढ़ को मूल्य में परिवर्तन का लाभ क्यों मिलना चाहिए. यह पंजाब में व्यापार को बढ़ाने के लिए जरूरी है.” Also Read - SC ने पराली जलाने पर रोक के लिए Retd Justice की अगुवाई में पैनल का गठन किया, SG ने विरोध किया

बादल ने सोमवार को विपक्षी पार्टी शिरोमणि अकाली दल के विरोध के बीच राज्य का वार्षिक बजट पेश किया. इस दौरान सत्ता पक्ष व शिअद विधायकों के बीच तीखी बहस हुई. मंत्री ने कहा कि साल (2019-2020) के लिए 3000 करोड़ रुपए किसानों की कर्ज माफी के लिए निर्धारित किए गए हैं. उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र को बजट में 13,643 करोड़ रुपए का बढ़ा हुआ अनुदान मिलेगा.