Top Recommended Stories

Raghuram Rajan Birthday Special: RBI के सबसे कम उम्र के गवर्नर रहे रघुराम राजन, बैंकिंग सुविधाओं को जनता तक पहुंचाने में निभाई प्रमुख भूमिका

Raghuram Rajan Birthday Special: रघुराम राजन RBI के सबसे कम उम्र के गवर्नर रहे. बैंकिंग सुविधाओं को जनता तक पहुंचाने में उन्होंने प्रमुख भूमिका निभाई. डॉ मनमोहन सिंह ने उन्हें 2013 में सीईए नियुक्त किया था.

Updated: February 3, 2022 9:25 AM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Manoj Yadav

raghuram rajan
(FILE PHOTO)

Raghuram Rajan Birthday Special: रघुराम राजन (Raghuram Rajan) का जन्म 3 फरवरी 1963 को भोपाल, मध्य प्रदेश में हुआ था. देश के सबसे प्रसिद्ध अर्थशास्त्रयों में से एक और भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर इस साल 59 साल के हो गए. 50 वर्ष की आयु में, रघुराम राजन भारत के केंद्रीय बैंक के सबसे कम उम्र के गवर्नर के बने थे.

Also Read:

रघुराम राजन (Raghuram Rajan) मूलतः तमिलियन माता-पिता की संतान हैं. उनका जन्म तब हुआ जब उनके मां- पिताजी मध्य प्रदेश में रह रहे थे. राजन को हमेशा वित्तीय मामलों में गहरी रुचि थी.

शैक्षिक योग्यता

रघुराम राजन (Raghuram Rajan) के पास भारत और विदेशों के सबसे प्रतिष्ठित संस्थानों से डिग्री है. उन्होंने IIT, दिल्ली से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री प्राप्त की. उनके पास आईआईएम अहमदाबाद से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा है और वह एमआईटी स्लोन स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, कैम्ब्रिज, संयुक्त राज्य अमेरिका से वित्तीय निर्णय के सिद्धांत में पीएचडी हैं.

करियर

राजन ने 1991 में शिकागो विश्वविद्यालय में बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस में वित्त के सहायक प्रोफेसर के रूप में काम किया और 1995 में पूर्णकालिक प्रोफेसर बन गए. उन्होंने स्टॉकहोम स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, एमआईटी स्लोन स्कूल ऑफ मैनेजमेंट और इंडियन स्कूल ऑफ मैनेजमेंट में विजिटिंग फैकल्टी के रूप में भी काम किया.

2008 में वापस, उन्हें डॉ मनमोहन सिंह द्वारा मानद आर्थिक सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था. इसके बाद वे भारत के वित्त मंत्रालय के मुख्य आर्थिक सलाहकार बने. उनकी नीतिगत सिफारिशों की अत्यधिक प्रशंसा की गई. जिसके बाद, राजन को 2013 में आरबीआई के गवर्नर के रूप में नियुक्त किया गया.

उनकी नीतियां मुख्य रूप से मुद्रास्फीति को कम करने और वित्तीय बाजारों को गहरा करने पर केंद्रित थीं. राजन ने बैंकिंग सुविधाओं को जनता तक पहुंचाने में प्रमुख भूमिका निभाई.

टाइम पत्रिका द्वारा 2016 में दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में से एक के रूप में नामित किए गए. राजन ने ‘द थर्ड पिलर’ और ‘फॉल्ट लाइन्स: हाउ हिडन फ्रैक्चर्स स्टिल थ्रेट द वर्ल्ड इकोनॉमी’ जैसी पुरस्कार विजेता किताबें लिखीं.

रघुराम राजन ने तीन साल तक आरबीआई के गवर्नर के रूप में कार्य किया. अत्यधिक प्रशंसित लेखक और अर्थशास्त्री अब शिकागो विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के तौर पर कार्यरत हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: February 3, 2022 9:24 AM IST

Updated Date: February 3, 2022 9:25 AM IST