RailTel IPO share allocation: रेलटेल आईपीओ में शेयर आवंटन को आज अंतिम रूप दिया जा सकता है. इसका आईपीओ पिछले हफ्ते ही बंद हुआ था. ब्रोकरेज फर्म्स के मुताबिक, 23 फरवरी यानी मंगलवार को इसको अंतिम रूप दिया जा सकता है, जबकि लिस्टिंग 26 फरवरी को हो सकती है. केफिन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड रेलटेल आईपीओ का रजिस्ट्रार है जो शेयर आवंटन और धनवापसी का प्रबंधन करेगा. KFin Technologies या BSE की वेबसाइट पर जाकर निवेशक अपने आवेदन की स्थिति देख सकते हैं.Also Read - Engineering Export Goods: भारत के इंजीनियरिंग सामानों का निर्यात 54 फीसदी बढ़ा

बता दें, टेलीकॉम इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रदाता रेलटेल का आईपीओ 16 फरवरी से 18 फरवरी के बीच खुला था. उसको कुल 42 गुना सब्सक्राइब किया गया है. मार्केट से 819 करोड़ जुटाने के लिए 6,11,95,923 शेयरों के मुकाबले 2,59,42,43,370 शेयरों के लिए बोली प्राप्त हुई है. रिटेल इंडिविजुअल इन्वेस्टर्स सेगमेंट को 16.78 गुना सब्सक्राइब किया गया जबकि योग्य संस्थागत खरीदारों (QIB) को 65.14 गुना और गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए पहले ही तय किए गए शेयरों को 73.25 गुना सब्स्क्राइब किया गया है. Also Read - Market LIVE: लिस्टिंग के बाद से सबसे निचले स्तर पर पहुंचे Zomato के शेयर, Paytm 57% नीचे

रेलटेल आईपीओ की मूल्य सीमा 93-94 रुपये प्रति शेयर थी. आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, आईडीबीआई कैपिटल मार्केट्स एंड सिक्योरिटीज लिमिटेड और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स ऑफर के प्रबंधक थे. Also Read - Canara Bank New FD Rates: केनरा बैंक ने 17 जनवरी से FD ब्याज दरों में किया संशोधन, यहां जानें नए रेट्स

आईपीओ से आगे, रेलटेल ने 14 एंकर निवेशकों से 244 करोड़ रुपये जुटाए थे. रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, भारत सरकार द्वारा और रेल मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत एक पूर्ण सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम, एक सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (ICT) अवसंरचना प्रदाता है और सबसे बड़े तटस्थ दूरसंचार अवसंरचना प्रदाताओं में से एक है. रेलटेल भारतीय रेलवे, केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के लिए विभिन्न आईसीटी परियोजनाएं भी चलाती है.

रेलटेल ऑफर में, सरकार 87.15 मिलियन शेयर या 27.16 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है और लगभग. 1919 करोड़ जुटाने की योजना बना रही है.

कुछ ब्रोकरेज फर्म्स ने इस इश्यू को सब्स्क्राइब करने के लिए सिफारिश की थी.

रेलिगेयर ब्रोकिंग ने एक नोट में कहा कि कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन राजस्व / पीएटी सीएजीआर के साथ 7.5% और वित्त वर्ष 18-20 के 2.6% से अधिक रहा है. हालांकि, इसने वित्त वर्ष 2018 के बाद से लगातार लाभांश का भुगतान किया है.” कंपनी का मूल्य 21.4x FY20 EPS के पीई पर है. लंबे समय के दृष्टिकोण से, निवेशक आईपीओ के लिए आवेदन करने पर विचार कर सकते हैं. ”

इसके साथ ही, Nureca Limited IPO के शेयर आवंटन को भी 23 फरवरी को अंतिम रूप दिए जाने की संभावना है. Link Intime India Private Ltd इश्यू का रजिस्ट्रार है और शेयर आवंटन और रिफंड का प्रबंधन करेगा. निवेशक अपने आवेदन की स्थिति को रजिस्ट्रार या बीएसई की वेबसाइट पर देख सकते हैं.