Rapido Bike Taxi: बाइक-टैक्सी प्लेटफॉर्म रैपिडो ने सोमवार को घोषणा की है कि उसने अत्याधुनिक आइडिया, प्रौद्योगिकी, लोगों और आपूर्ति में रणनीतिक निवेश करने के लिए अपने लेटेस्ट दौर के वित्त पोषण में 52 मिलियन डॉलर जुटाए हैं. कंपनी ने कहा कि 26 शहरों में शुरू की गई उसकी ऑटो सेवा में 4 गुना की वृद्धि दर्ज की गई है. कुल मिलाकर, इसमें पूर्व-कोविड की तुलना में 85 प्रतिशत की मजबूत देखी है.Also Read - AFCAT 2019 का रिजल्‍ट घोषित, 6 स्‍टेप में ऐसे चेक करें

रैपिडो के सह-संस्थापक अरविंद सांका ने कहा, रैपिडो देश का सबसे बड़ा बाइक टैक्सी खिलाड़ी है, जो लगभग 100 शहरों में काम कर रहा है. पिछले दो वर्षों में 15 मिलियन यूजर्स से अब हम अगले 18 महीनों में उस संख्या को 50 मिलियन तक बढ़ाने की योजना बना रहे हैं. सस्ते परिवहन प्रदान करना जारी रखेंगे. Also Read - समय पर राफेल की डिलीवरी नहीं कर पाती HAL! सेना ने इन प्रोजेक्ट में हो रही देरी पर ही उठाए सवाल

नए फंडिंग दौर में शेल वेंचर्स सहित नए निवेशकों की भागीदारी देखी गई है. जैसे यामाहा; कुणाल शाह, संस्थापक, क्रेड; अमरजीत सिंह बत्रा, सीईओ, स्पॉटिफाई इंडिया है.

इस दौर में मौजूदा निवेशक पवन मुंजाल, हीरो ग्रुप, वेस्टब्रिज, नेक्सस वेंचर और एवरब्लू मैनेजमेंट भी दिखे हैं.

कंपनी ने पहले वेस्टब्रिज एआईएफ, नेक्सस वेंचर्स, सेबर इन्वेस्टमेंट, स्काईकैचर एलएलसी, बेस फंड, इंटीग्रेटेड ग्रोथ कैपिटल सहित विभिन्न निवेशकों से कुल 80 मिलियन डॉलर का फंड जुटाया था.

पिछले वित्त वर्ष 2020 में कंपनी 10 गुना बढ़ी है.