रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) ने निजी क्षेत्र के अग्रणी एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. HDFC बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग (Stock Exchange Filing) में इस बारे में जानकारी दी है.Also Read - रिजर्व बैंक ने SBI पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया, जानें वजह

आरबीआई (RBI) के अनुसार, एचडीएफसी बैंक (HDFC) पर यह जुर्माना इसलिए लगाया गया, क्योंकि बैंक सब्सिडियरी जनरल लेजर (SGL) में आवश्यक न्यूनतम पूंजी बनाए रखने में विफल रही है, जिसकी वजह से SGL (Subsidiary General Ledger) ऊपर चली गई. Also Read - Bank Holidays In December: दिसंबर में आधे महीने तक बैंकों में नहीं होगा कामकाज, जानें- कब-कब पड़ रही हैं छुट्टियां

एचडीएफसी बैंक (HDFC) बैंक को 9 दिसंबर को आरबीआई (RBI) का आदेश मिला और इसका खुलासा 10 दिसंबर को किया गया. रिजर्व बैंक ने अपनी अधिसूचना में बताया कि SGL के उछलने के लिए HDFC बैंक पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है, जिससे 19 नवंबर को बैंक के सीएसजीएल अकाउंट (Constituent Subsidiary General Ledger, CSGL Account) में कुछ सिक्योरिटीज में बैलेंस की कमी हो गई है. Also Read - Bank Customers Alert! RBI ने इस बैंक पर लगाई कई पाबंदियां, 10 हजार से ज्यादा रुपये नहीं निकाल सकेंगे ग्राहक

रिजर्व बैंक के इस आदेश के बाद एचडीएफसी बैंक के शेयर शुक्रवार को 1,390.05 रुपये पर खुले.

गौरतलब है कि हाल ही में रिजर्व बैंक द्वारा अपने प्रोग्राम डिजिटल 2.0 (Program Digital 2.0) के तहत नियोजित बैंक की डिजिटल बिजनेस जनरेटिंग गतिविधियों (Digital Business Generating Activities) के लॉन्च पर रोक लगाने और नए क्रेडिट कार्ड (HDFC Credit Card) ग्राहकों की सोर्सिंग पर रोक लगाने की घोषणा के बाद स्टॉक के वैल्यूएशन में गिरावट देखने को मिली है.