नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में तीन गुना बढ़कर 2,844 करोड़ रुपए रहा. इसकी प्रमुख वजह कंपनी की प्रति उपयोक्ता औसत आय बढ़ना है.Also Read - Reliance Jio कर रहा है 6G की तैयारी, 5G की तुलना में 100 गुना अधिक होगी स्पीड, जानिए डिटेल

परिणाम घोषित करने के बाद निवेशकों को दी एक प्रस्तुति में कंपनी ने यह जानकारी भी दी उसके उपयोक्ताओं की कुल संख्या आलोच्य अवधि में 40.56 करोड़ हो गई. चीन के बाहर एक ही बाजार में 40 करोड़ से अधिक ग्राहक रखने वाली जियो पहली दूरसंचार कंपनी बन गई है. Also Read - Reliance Jio ने समय से पहले किया स्पेक्ट्रम का भुगतान, चुकाए 30,791 करोड़ रुपये

कंपनी ने कहा कि अबू धाबी इंवेस्टमेंट अथॉरिटी और द पब्लिक इंवेस्टमेंट फंड ने मिलकर फाइबर ट्रस्ट ने 3,779-3,779 करोड़ रुपए की हिस्सेदारी खरीदी है. Also Read - Vodafone Idea के इस प्लान के सामने फेल हुए Jio और Airtel, डेली मिल रहा है 1.5GB डाटा और बहुत कुछ

शेयर बाजार को दी सूचना में कंपनी ने कहा कि 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में उसका लाभ 2,844 करोड़ रुपये रहा. पिछले साल समान तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 990 करोड़ रुपये था.

समीक्षावधि में कंपनी की परिचालन आय 33 प्रतिशत बढ़कर 17,481 करोड़ रुपये रही. 2019-20 की इसी अवधि में कंपनी की आय 13,130 करोड़ रुपए  थी.

कंपनी ने कहा कि समीक्षावधि में उसकी प्रति उपयोक्ता औसत आय (एआरपीयू) 145 रुपये रही. इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में कंपनी का एआरपीयू 127.4 रुपए था, जबकि इससे पिछली तिमाही में यह 140 करोड़ रुपए था.

इस दौरान जियो प्लेटफॉर्म्स का शुद्ध लाभ 20 प्रतिशत बढ़कर 3,020 करोड़ रुपए रहा. इससे पिछली तिमाही में यह 2,520 करोड़ रुपए था. जियो प्लेटफॉर्म्स के तहत ही जियो से जुड़ी विभिन्न ऐप और दूरसंचार कंपनी जियो का कारोबार आता है.