नई दिल्ली: अनिल अंबानी की रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर (आरइंफ्रा) और इटली की एस्टालिडी एसपीए के संयुक्त उद्यम को मुंबई में दूसरे सी लिंक के निर्माण के लिए 7,000 करोड़ रुपए का ठेका मिला है. आरइंफ्रा ने बंबई शेयर बाजार को दी जानकारी में कहा कि वर्सोवा – बांद्रा सी लिंक का ठेका इंजीनियरिंग, खरीद और निर्माण (ईपीसी) अनुबंध के आधार पर दिया गया है.

महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम (एमएसआरडीसी) ने परियोजना के लिए मंजूरी पत्र जारी कर दिया है. आरइंफ्रा – एस्टालिडी का संयुक्त उद्यम 6,993.99 करोड़ रुपए की बोली के साथ सबसे प्रतिस्पर्धी बोलीदाता के रूप में उभरा. कंपनी ने कहा कि 17.17 किलोमीटर लंबी वर्सोवा – बांद्रा परियोजना की लंबाई मौजूदा बांद्रा – वर्ली सी लिंक से तीन गुना है. यह परियोजना 60 महीने में शुरू होनी है.

आरइंफ्रा के पास ये हैं बड़े प्रोजेक्ट
– आरइंफ्रा कंपनी को बांग्लादेश में 5,000 करोड़ रुपए की दो परियोजनाओं के आर्डर
– एक 750 मेगावॉट की कंबाइंड साइकिल बिजली संयंत्र और 500 एमएमएससीएफडी फ्लोटिंग स्टोरेज रिगैसीफिकेशन यूनिट के निर्माण का ठेका
– कंपनी को बिहार में 70 किमी की 6 लेन वाली औरंगाबाद-बिहार-झारखंड सीमा सड़क परियोजना का ईपीसी ठेका मिला है

आरइंफ्रा की खास बातें 
– वित्त वर्ष 2017-18 की तीसरी तिमाही के दौरान आरइंफ्रा ने मुनाफे में 9 फीसदी की वृद्धि दर्ज की थी
– आर इंफ्रा का 2017-18 की तीसरी तिमाही मुनाफा बढ़कर 410 करोड़ रुपए हो गया, पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में ये 375 करोड़ रुपए था
– समीक्षाधीन अवधि में कंपनी की कुल आय 6,634 करोड़ रुपए (1 अरब डॉलर) रही
– कंपनी की एबिट्डा (वेतन, कर्ज व अन्य भुगतान से पहले की कमाई) चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 2,138 करोड़ रुपए थी
– कंपनी के ईपीसी (इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेंट और कंस्ट्रकशन) कारोबार का ऑर्डर बुक 31 दिसंबर तक 10,500 करोड़ रुपए का था

(इनपुट- एजेंसी)