Rules to change from 1st July: हर महीने में कुछ न कुछ बदलाव जरूर किया जाता है. अब एक सप्ताह के बाद हम साल के सातवें महीने में प्रवेश कर जाएंगे. इसके साथ, 1 जुलाई से कुछ नियम जो आम आदमी की जिंदगी से जुड़े हुए हैं, बदल जाएंगे. इन नियमों के बदलाव से आपकी जेब पर इसका सीधा असर होगा जिसका प्रभाव आपके घर के बजट पर भी पड़ेगा. बता दें, प्रत्येक माह की पहली तारीख को गैस सिलिंडर के दाम तय किए जाते हैं. इसके अलावा, एसबीआई से पैसे की निकासी, चेक और एटीएम से पैसे की निकासी के नियमों बदलाव होगा.Also Read - PM Kisan Samman Yojana: इन किसानों को नहीं मिलेगी योजना की नौवीं किस्त, जानिए- क्या है वजह?

किन-किन नियमों में होगा बदलाव, जानिए – यहां

  1. 1 जुलाई 2021 से एलपीजी सिलिंडर दामों में बदलाव होगा. तेल विपणन कंपनियां प्रत्येक माह की पहली तारीख को एलपीजी गैस का दाम तय करती हैं, तो पहली तारीख को यह देखना होगा कि तेल कंपनियां एलपीजी के दाम बढ़ाती हैं या घटाती हैं.
  2. देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया एटीएम से पैसे निकालने के नियमों में बदलाव करेगा. ये नए नियम 1 जुलाई से लागू हो जाएंगे. स्टेट बैंक के बेसिक वचत खाता धारक के लिए चार पर निकासी मुफ्त रहेगी. चाहे आप एटीएम से निकासी करें या बैंक की शाखाओं से केवल चार बार की निकासी मुफ्त रहेगी. उसके बाद उसके लिए शुल्क देना होगा. मुफ्त की सीमा समाप्त हो जाने के बाद बैंक 15 रुपये के साथ जीएसटी जोड़कर आपसे शुल्क वसूल करेगा. यह निकासी आप कहीं से भी करें, लेकिन बैंक आपसे से शुल्क वसूल करेगा.
  3. पहले बैंक के बेसिक बचत खाताधारक को 10 पन्नों का मुफ्त में चेक बुक मिलता था. लेकिन अब बैंक आपसे इसके लिए अच्छा खासा शुल्क लेगा. 10 पन्नों के चेक बुक के लिए बैंक 40 रुपये प्लस जीएसटी जोड़कर आपसे शुल्क वसूल करेगा. वहीं, 25 पन्नों के चेक बुक के लिए बैंक 75 रुपये प्लस जीएसटी वसूलेगा. अगर आप एमर्जेंसी में चेकबुक लेना चाहते हैं तो बैंक आपसे 50 रुपये प्लस जीएसटी वसूल करेगा. वहीं, वरिष्ठ नागरिकों पर इन बदलावों का कोई असर नहीं होगा. उनसे किसी प्रकार का शुल्क नहीं वसूल किया जाएगा. अगर बेसिक खाताधारक होम ब्रांच से पैसे की निकासी करते हैं तो उनसे किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा.
  4. अगर आपने अभी तक इनकम टैक्स रिटर्न नहीं फाइल किया है तो जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी आप इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर दें. अगर आपने 30 जून तक इनकम टैक्स रिटर्न नहीं फाइल किया तो आपको 1 जुलाई से इसके लिए दोगुना टीडीएस वसूल किया जाएगा. इसकी वजह यह है कि आपको दूसरी बार मौका दिया गया है. 31 जुलाई अंतिम तारीख तय की गई थी, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 30 सितंबर कर दिया गया है.
  5. केनरा बैंक 1 जुलाई से सिंडिकेट बैंक के आईएफएससी कोड में बदलाव करने जा रहा है. सिंडिकेट बैंक के सभी ग्राहकों से यह कहा गया है कि वो बैंक का आईएफएससी कोड अपडेट कर लें. केनरा बैंक की तरफ से यह कहा गया है कि मर्जर के बाद अब सभी शाखाओं का आईएफएससी कोड बदल गया है. बैंक ने ग्राहकों से अपील की है कि वो बैंक का आईएफएससी कोड अपडेट करा लें, अन्यथा उन्हें, आरटीजीएस और नेफ्ट जैसी सुविधाएं नहीं मिल पाएंगी. यह एक जुलाई से प्रभावी हो जाएगा.
Also Read - SBI Recruitment 2021: SBI में इन पदों पर आवेदन करने की कल है आखिरी डेट, जल्द करें अप्लाई, होगी अच्छी सैलरी Also Read - What is bridge loan: ब्रिज लोन क्या है और क्या हैं ब्याज दरें, यहां जानिए सब कुछ जो आप जानना चाहते हैं