नई दिल्ली: तेल की बढ़ती वैश्विक कीमतों और पूंजी निकासी जारी रहने के बीच आयातकों से अमेरिकी मुद्रा के लिए मजबूत मांग के चलते भारतीय रुपया बुधवार को पहली बार डॉलर के मुकाबले गिरकर रिकॉर्ड 73 रुपये से नीचे चला गया. इंटरबैंक फॉरेन एक्सचेंज (फॉरेक्स) बाजार में घरेलू मुद्रा शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 43 पैसे गिरकर 73.34 रुपये पर पहुंच गया. रुपया 73.26 पर खुला और आगे और गिरकर डॉलर के मुकाबले 73.34 रुपये के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया.

गौरतलब है कि सोमवार को रुपया 26 पैसे लुढ़ककर करीब दो सप्ताह के निम्न स्तर 72.91 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था. वैश्विक मुद्राओं की तुलना में डॉलर करीब एक महीने के उच्चतम स्तर को छू गया. इस बीच भारतीय रुपया 72.61 रुपये प्रति डॉलर पर खुला जो शुक्रवार के बंद भाव 72.65 रुपये प्रति डॉलर के मुकाबले मामूली अधिक था. भारी डॉलर मांग के कारण यह 72.95 रुपये प्रति डॉलर के निम्न स्तर को छूने के बाद 72.60 रुपये तक सुधर गया. अंत में रुपया 26 पैसे की गिरावट दर्शाता 72.91 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था.

प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने सोमवार को 1,841.63 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की. इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक ने घोषणा की कि वह त्यौहारी सत्र की मांग को पूरा करने के लिए अक्तूबर महीने में सरकारी बांड खरीद के जरिये वित्तीय तंत्र में 36,000 करोड़ रुपये की नकदी डालेगा. उतार चढ़ाव भरे कारोबार में 30-शेयरों पर आधारित बंबई शेयर बाजार का सूचकांक 299 अंक की तेजी के साथ 36,526.14 अंक पर बंद हुआ.