नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने ग्राहकों को राहत भरी खबर दी है. SBI की तरफ से बेंचमार्क लेंडिंग रेट्स (कर्ज देने की मानक दर) (MCLR) में 5 बेसिस प्वाइंट यानि 0.05 फीसदी की कटौती की गई है. इससे पहले बैंक ने एक जनवरी को दर में कटौती की थी.

SBI cuts base rate by 15 basis points | एसबीआई ने बेस रेट में की कटौती, लोन की ईएमआई घटेगी 

SBI cuts base rate by 15 basis points | एसबीआई ने बेस रेट में की कटौती, लोन की ईएमआई घटेगी 

Also Read - Aatmnirbhar Bharat: इन 'दीदियों' ने बदली बैंकिंग की परिभाषा, हर महीने करती हैं 120 करोड़ का ट्रांजेक्शन

भारतीय स्टेट बैंक की वेबसाइट के अनुसार इस कटौती के बाद एक साल के कर्ज़ पर एमसीएलआर 7.95 फीसदी पर आ गई है जो पहले आठ फीसदी थी. एक दिन के लिए कर्ज़ पर एमसीएलआर कम होकर 7.70 फीसदी हो गई है जो पहले 7.75 फीसदी थी. वहीं तीन साल की अवधि के कर्ज पर ये अब 8.10 फीसदी होगी जो पहले 8.15 फीसदी थी. Also Read - Indian Economy: वित्त वर्ष 2021-22 में 9.5% से ज्यादा तेजी से बढ़ सकती है भारत की अर्तव्यवस्था: एसबीआई रिपोर्ट

एसबीआई के इस कदम से बैंक से कर्ज लेने वाले नए ग्राहकों को तुरंत फायदा मिलना शुरू हो जाएगा. लेकिन जिन ग्राहकों ने पहले से क्रज लिया हुआ है उनको थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है. ऐसा इलसिए क्योंकि कर्ज की पहले से निर्धारित की गई दरें निश्चित अवधि के मान्य होगी. अवधि पूरा होने के बाद अपने आप उनके लिए कर्ज की दर में कमी आ जाएगी. Also Read - ATM Cash Withdrawal Rules: ATM से पैसे निकालने के नियम बदले, जानिए क्या है नया, नहीं तो फंस जाएंगे पैसे

आपको बता दें कि नोटबंदी के बाद जनवरी 2017 में अधिकतर बैंकों ने MCLR में कटौती की थी. उस समय SBI ने भी अपनी दर में कटौती की थी. उसके बाद एसबीआई ने दोबारा यह कदम उठाया है. SBI के नए चेयरमैन रजनीश कुमार के पद संभालने के एक हप्ते बाद यह राहत भरी घोषणा की गई है.

इस बीच इलाहबाद बैंक ने भी एमसीएएलआर में 0.15 फीसदी की कटौती की घोषणा की. इस कटौती के बाद एक साल की अवधि के कर्ज़ पर एमसीएलआर 8.30 फीसदी होगी जो पहले 8.45 फीसदी थी.