मुंबई : भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 4 मई तक नौ चरण में 5,029 करोड़ रुपये (50 अरब 29 करोड़) से अधिक मूल्य के 10, 494 चुनावी बॉन्ड जारी किए. सूचना के अधिकार कानून (RTI) के तहत पूछे गए एक सवाल के जवाब में देश के सबसे बड़े बैंक ने यह जानकारी दी है. इस तरह प्रति बॉन्ड औसतन 48 लाख रुपये का रहा. एसबीआई एकमात्र ऐसा वाणिज्यिक बैंक है, जिसे केंद्र ने चुनावी बॉन्ड जारी करने के लिए अधिकृत किया है. इन बॉन्डों को चुनावी चंदे के रूप में दलों को दिया जाता है और उसे मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल इसी बैंक से भुनाते हैं.

मुंबई के एक आरटीआई कार्यकर्ता मनोरंजन रॉय द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में बैंक ने कहा है कि उसने 4 मई को समाप्त नौवें चरण के चुनावी बांड निर्गम तक 5,029 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के 10,494 बॉन्ड जारी किए.

हालांकि, बैंक ने इन बॉन्डों को खरीदने वाली कंपनियों या व्यक्ति की जानकारी यह कहते हुए सार्वजनिक नहीं की है कि ये ‘थर्ड पार्टी’ से जुड़ी जानकारी है. बैंक के मुताबिक आरटीआई अधिनियम की धारा 8 (1)(ई)(आई) के तहत उसे तीसरे पक्ष की जानकारी देने से छूट प्राप्त है.