मुंबई: देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने बुधवार को कर्ज पर ब्याज दर में 0.15 प्रतिशत कटौती की घोषणा की. रिजर्व बैंक के प्रमुख नीतिगत दर में 0.35 प्रतिशत की कटौती के बाद बैंक ने यह कदम उठाया. एसबीआई ने सभी अवधि के कर्ज पर ब्याज दर में कटौती की है. यह कटौती 10 अगस्त से प्रभाव में आएगी.

भारतीय स्टेट बैंक ने एक बयान में कहा कि इस कटौती के बाद एक साल की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) 8.40 प्रतिशत से घटकर 8.25 प्रतिशत सालाना पर आ गयी है. इस कटौती के बाद बैंक की रेपो से जुड़ी ब्याज दर (आरएलएलआर) नौ सितंबर से ‘कैश क्रेडिट एकाउंट’ (सीसी) / ओवरड्राफ्ट (ओडी) ग्राहकों के लिए 7.65 प्रतिशत रह जायेगी.

RBI ने लगातार चौथी बार रेपो रेट में कटौती की, घटेगी आपकी EMI

0.35 प्रतिशत सस्ता हुआ एसबीआई का होम लोन
इस कटौती के बाद बैंक का आवास ऋण अप्रैल के बाद से 0.35 प्रतिशत सस्ता हो चुका है. बैंक एक जुलाई 2019 से आवास ऋण की पेशकश रेपो आधारित ब्याज दर पर कर रहा है.