नई दिल्ली: भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) को अपनी ब्रांड छवि चमकाने के लिए एक जनसंपर्क (पीआर) एजेंसी की तलाश है. बैंक का इरादा खुद को ग्राहकों की जरूरतों के लिए सबसे पसंदीदा ब्रांड के रूप में पेश करने का है. देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई की देशभर में 22,000 से अधिक शाखाएं हैं. एसबीआई की मौजूदगी 30 से अधिक देशों में है. Also Read - बीते वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 1.2 प्रतिशत रहने का अनुमान: एसबीआई रिपोर्ट

एसबीआई की ओर से निकाले गए आग्रह प्रस्ताव (आरएफपी) में कहा गया है कि उसे जनसंपर्क सेवाओं के लिए एक जनसंपर्क एजेंसी की तलाश है. Also Read - सरकारी बैंकों ने एक मार्च से 15 मई के बीच 6.45 लाख करोड़ रुपये के कर्ज को मंजूरी दी

पीआर एजेंसी की नियुक्ति के लिए निकाले गए आरपीएफ दस्तावेज में बैंक ने कहा है कि वह मार्केटिंग के जरिये आज की तुलना में एक बेहद अनुकूल ब्रांड बनना चाहता है. इसके अलावा उसका लक्ष्य ग्राहकों के लिए सबसे पसंदीदा ब्रांड बनने का भी है. Also Read - लॉकडाउन के बीच सरकारी बैंकों ने विभिन्न क्षेत्रों के लिए 6 लाख करोड़ रुपये के कर्ज मंजूर किए

बैंक ने कहा है कि पीआर एजेंसी बैंक द्वारा आयोजित जनसंपर्क गतिविधियों के विकास और क्रियान्वयन के लिए जिम्मेदार होगी.

दस्तावेज में कहा गया है कि यह एजेंसी कुछ विशेषज्ञ सेवाप्रदाताओं मसलन फिल्म प्रोडक्शन हाउस, ट्रैवल एजेंट या इसी तरह के अन्य सेवाप्रदाताओं के साथ मिलकर काम करेगी और व्यापक समाधान पेश करेगी. आरपीएफ के अनुसार जनसंपर्क एजेंसी की नियुक्ति तीन साल के लिए अनुबंध पर होगी. उसके कामकाज के प्रदर्शन की सालाना समीक्षा की जाएगी.