नई दिल्लीः एक फरवरी को बजट पेश होने के बाद शेयर बाजारों में जारी लगातार गिरावट के बाद सरकार को अपने बचाव में बयान देना पड़ा है. मंगलवार सुबह सेंसेक्स के 1200 अंकों तक लुढ़कने के बाद वित्त सचिव हसमुख अधिया ने कहा कि ऐसा बजट नहीं बल्कि वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों में जारी गिरावट की वजह से हुआ है. उन्होंने आगे कहा कि हम आज किसी द्वीप पर नहीं बल्कि मजबूती से वैश्विक अर्थव्यवस्था से जुड़े हुए हैं. ऐसे में वैश्विक उथल-पुथल का असर पड़ना स्वाभाविक है. उन्होंने आगे कहा कि अगर बजट की वजह से ऐसा हुआ होता तो उसी दिन बाजार में गिरावट देखी गई होती. Also Read - मुहूर्त कारोबार: NSE Sensex अपनी सर्वकालिक ऊंचाई पर, BSE में लगभग सभी क्षेत्र लाभ में

Also Read - केंद्र सरकार के राहत पैकेज के बाद टूटा शेयर बाजार, 8 सत्रों से जारी तेजी पर लगा ब्रेक

शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 1200 अंक टूटा, निफ्टी 10300 के नीचे

शेयर बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 1200 अंक टूटा, निफ्टी 10300 के नीचे

Also Read - Share Market Closes Higher: सेंसेक्स और निफ्टी दोनों रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद

अधिया ने आगे कहा कि हम बजट पेश करने की तारीख को नहीं बदल सकते थे. वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों में मंदी गलत समय पर आई है. उन्होंने कहा कि बजट के दिन सब कुछ ठीक था. यहां तक शेयर बाजार में निवेश पर लॉन्ग टर्म टैक्स लगाने की घोषणा के बावजूट बाजार स्थित था. गौरतलब है कि बजट के कुछ प्रस्तावों को लेकर निवेशकों की चिंता व वैश्विक स्तर पर बिकवाली से शेयर बाजारों में मंगलवार को भी गिरावट का सिलसिला जारी रहा. खराब वैश्विक संकेतों के चलते घरेलू बाजारों में भारी गिरावट हुई.

मंगलवार सुबह बाजार खुलने के साथ सेंसेक्स 1200 अंकों से ज्यादा नीचे आ गया, जबकि निफ्टी 10,300 अंक फिसला था. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में 3-3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. इससे पहले सोमवार को भी सेंसेक्स में गिरावट रही और सेंसेक्स 310 अंक टूटकर 34,757.16 अंक के तीन सप्ताह के निचले स्तर पर आ गया. निफ्टी में भी 94 अंक की गिरावट आई और यह 10,667 अंक पर आ गया था. एक फरवरी को बजट पेश होने के बाद से सेंसेक्स तीन सत्रों में 1,208 अंक से अधिक नीचे आ चुका है. वहीं, निफ्टी 361 अंक टूटा है.