Sensex latest update: शेयर बाजार के लिए नवंबर का महीना रिकॉर्ड तोड़ने वाला रहा. इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने अपना ऑल टाइम हाई बनाने में कामयाब रहे. सेंसेक्स ने जहां 25 नवंबर को 44,825 का स्तर टच किया. वहीं, निफ्टी भी पहली बार 13,145 के स्तर को छूने में कामयाब रहा. नवंबर में सेंसेक्स और निफ्टी में दोहरे अंकों में ग्रोथ रही.Also Read - Stock Market Update: बाजार में लगातार पांचवें दिन गिरावट, सेंसेक्स 704 अंक लुढ़का; निफ्टी 17,000 अंक से नीचे

अर्थव्यवस्था को लेकर पॉजिटिव आउटलुक से दुनियाभर के बाजारों में रही तेजी Also Read - शेयर मार्केट अप्डेट: Share Market में हाहाकार, 1200 अंकों से ज्यादा टूटा Sensex; 17,150 के नीचे पहुंचा निफ्टी

अलग-अलग शेयरों की बात करें तो निवेशकों को एक महीने में एक ही शेयर में 76 फीसदी तक रिटर्न मिला है. वैश्विक स्तर पर बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के डाटा में सुधार, कोरोना वैक्सीन के जल्द बाजार में आने की खबरों और अर्थव्यवस्था को लेकर पॉजिटिव आउटलुक के चलते दुनियाभर के बाजारों में तेजी रही. जिसका फायदा घरेलू बाजार को भी मिला. Also Read - Share Market News: कंपनियों की ‘कमाई’, वैश्विक रुख से तय होगी शेयर बाजारों की दिशा

नवंबर में 12 फीसदी चढ़ा सेंसेक्स

नवंबर महीने में, लॉर्जकैप इंडेक्स बीएसई सेंसेक्स 30 में 12 फीसदी की तेजी रही. सेंसेक्स 30 अक्टूबर को 39, 614 के स्तर पर बंद हुआ था. वहीं, नवंबर के अंत में यह 44,149.72 के स्तर पर पहुंच गया. इस दौरान सेंसेक्स ने 25 नवंबर को 44825.37 का ऑल टाइम हाई बनाने में कामयाब रहा. इसी दिन निफ्टी ने भी 13,145 का ऑल टाइम हाई बनाया.

छोटे और मझले शेयर में भी आई तेजी

केवल ब्लू चिप कंपनियों के ही शेयरों में तेजी नहीं आई. बल्कि मझले और लघु पूंजी वाली कंपनियों के शेयरों में भी नवंबर महीने में अच्छी तेजी रही. नवंबर में बीएसई मिडकैप इंडेक्स में तकरीबन 13.5 फीसदी की तेजी रही. इस दौरान मिडकैप इंडेक्स 14,904 से बढ़कर 16,915 के स्तर पर पहुंच गया. नवंबर महीने में बीएसई स्मालकैप इंडेक्स में भी 13 फीसदी की ग्रोथ रही है. इस दौरान बीएसई स्मालकैप इंडेक्स 14,888 के स्तर से बढ़कर 16,875 के स्तर तक पहुंच गया.

जानिए- बाजार में तेजी की प्रमुख वजह

कोरोना वायरस के इलाज को लेकर बढ़ती उम्मीद से बाजार को अच्छा सपोर्ट मिला है. इसके अतिरिक्त, दुनियाभर की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं को लेकर डाटा काफी अच्छे आ रहे हैं. वहीं रेटिंग एजेंसियां भी बेहतर इकोनॉमिक ग्रोथ आउटलुक की बात कह रही हैं. अर्थव्यवस्था में सुधार की उम्मीद से निवेशक बाजार में पैसा लगा रहे हैं. साथ ही, तीसरा बड़ा कारण यूएस मार्केट में शानदार रिकवरी भी रही. जहां सत्ता परिवर्तन के साथ राजनीतिक स्थिरता के सेंटीमेंट से बाजारों में रिकॉर्ड तेजी रही है. इसका असर दुनियाभर के बाजारों पर दिखा है.

जानिए- नवंबर माह में किन शेयरों ने दिया 40 से 76 फीसदी तक का रिटर्न

अडानी गैस: 76%
जे&के बैंक: 63%
चोला इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस: 57%
बजाज फिनसर्व: 55%
वॉखार्ट: 54%
अडानी ग्रीन: 52%
एसएच केलकर एंड कंपनी: 50%
चोलामंडलम फाइनेंस: 46%
श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस: 46%
इक्विटास होल्डिंग: 43%
बजाज फाइनेंस: 42%
टाटा स्टील: 41%