मुंबईः शेयर बाजारों की शुरुआत सोमवार को गिरावट के रुख के साथ हुई. भारी बिकवाली के चलते सेंसेक्स 1,500 अंक से अधिक गिरकर खुला जबकि निफ्टी 9,500 अंक से नीचे रहा. बीएसई सेंसेक्स 1,513.68 अंक यानी 4.49 प्रतिशत गिरकर 32,203.94 अंक पर रहा जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी में 425.70 अंक यानी 4.32 प्रतिशत की गिरावट के साथ 9,434.20 अंक पर कारोबार हो रहा है. Also Read - रिलायंस इंडस्ट्रीज कर्जमुक्त कंपनी बनने ओर अग्रसर, कुछ सप्ताह में अच्छा-खासा धन जुटाया

सबसे ज्यादा नुकसान में आईसीआईसीआई बैंक का शेयर रहा. यह आठ प्रतिशत तक गिर गया. इंडसइंड बैंक, टाटा स्टील, बजाज फाइनेंस, टेक महिंद्रा, एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक के शेयर में भी कमजोरी रही. रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में भी एक प्रतिशत की गिरावट रही. बृहस्पतिवार को कंपनी ने अपने तिमाही परिणाम जारी किए थे. जनवरी-मार्च तिमाही में कंपनी का लाभ 37 प्रतिशत तक गिर गया. Also Read - ब्रिटिश अदालत का आदेश- अनिल अंबानी चीन के तीन बैंकों के 71.7 करोड़ डॉलर का भुगतान करें

इस बीच सोमवार की सुबह रिलायंस के जियो प्लेटफॉर्म्स में सिल्वर लेक के 1.15 प्रतिशत हिस्सेदारी लेने की खबर आयी. दुनिया के सबसे बड़े प्रौद्योगिकी निवेशकों में से एक सिल्वर लेक जियो प्लेटफॉर्म्स में 5,655.75 करोड़ रुपये निवेश करेगी. सेंसेक्स में शामिल सन फार्मा इकलौता लाभ में चल रहा शेयर है. पिछले सत्र के कारोबार में सेंसेक्स 33,717.62 अंक पर और निफ्टी 9,859.90 अंक पर बंद हुआ था. शुक्रवार को महाराष्ट्र दिवस के चलते शेयर बाजार बंद रहे. Also Read - यात्री विमान सेवाएं बहाल होने से एविएशन सेक्टर की कंपनियों के शेयरों में जोरदार तेजी

ब्रोकरों के अनुसार एशियाई बाजारों की बिकवाली का असर घरेलू स्तर पर भी रहा. हांगकांग और सियोल के बाजार नीचे बने हुए हैं. शंघाई और टोक्यो के बाजार छुट्टी के चलते बंद हैं. इसके अलावा देश में लॉकडाउन की अवधि बढ़ने से घरेलू आर्थिक गतिविधियां बंद हैं. इससे कॉरपोरट आय प्रभावित हो रही है. इससे भी बाजार नीचे खुला.

सरकार ने शुक्रवार को लॉकडाउन 17 मई तक बढ़ा दिया. आरंभिक आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने बृहस्पतिवार को 1,968.80 करोड़ रुपये की लिवाली की. इस बीच ब्रेंट कच्चा तेल 26.41 डॉलर प्रति बैरल के पूर्व स्तर पर बना रहा. देश में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 1,373 हो चुकी है.