मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा बैंकिंग क्षेत्र में नकदी की उपलब्धता बढ़ाने के उपायों की घोषणा किए जाने के बाद बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स सोमवार को 299 अंक चढ़कर 36,526.14 अंक पर पहुंच गया. सरकार संकटग्रस्त आईएलएंडएफएस के प्रबंधन में बदलाव की तैयारी कर रही है. बता दें कि रिजर्व बैंक ने सोमवार को घोषणा की है कि वह अक्टूबर में सरकारी बांडों की खरीद के जरिए प्रणाली में 36,000 करोड़ रुपए का धन डालेगा.

इस बीच, सरकार संकटग्रस्त आईएलएंडएफएस के प्रबंधन में बदलाव की मांग को लेकर राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) में चली गई है.

ब्रोकरों ने कहा कि सितंबर माह के सकारात्मक पीएमआई आंकड़ों और वाहन कंपनियों की मासिक बिक्री में सुधार से निवेशकों का भरोसा कायम हुआ है.

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 36,274.25 अंक पर मजबूती के रुख के साथ खुला. इसके बाद गैर बैंकिंग वित्तीय क्षेत्र (एनबीएफसी) को लेकर चिंता की वजह से यह नीचे आ गया. दोपहर के कारोबार में सेंसेक्स कुछ सुधरा और 36,616.64 अंक के उच्चस्तर तक गया. अंत में सेंसेक्स 299 अंक या 0.83 प्रतिशत की बढ़त के साथ 36,526.14 अंक पर बंद हुआ.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 77.85 अंक या 0.71 प्रतिशत के लाभ के साथ 11,008.30 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 10,821.55 से 11,035.65 अंक के दायरे में रहा.

शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने शुक्रवार को शुद्ध रूप से 1,699.94 करोड़ रुपए के शेयर बेचे. वहीं, घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 3,256.34 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे.

सितंबर में देश में विनिर्माण गतिविधियों में भी सुधार हुआ है. निक्की इंडिया विनिर्माध खरीद प्रबंधन सूचकांक सितंबर में 52.2 पर पहुंच गया. अगस्त में यह 51.7 पर था.