मुंबई: घरेलू शेयर बाजार में सोमवार गिरावट पर लिवाली बढ़ने से थोड़ी रिकवरी आई. सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले करीब 137 अंकों की बढ़त के साथ 39,872 पर बंद हुआ, जबकि कारोबार के दौरान 40,000 के ऊपर तक चढ़ा. निफ्टी भी 62 अंकों की बढ़त के साथ 11,700 के ऊपर बंद हुआ. इससे पहले शनिवार को आम बजट पर बाजार की निराशाजनक प्रतिक्रिया देखने को मिली थी और सेंसेक्स व निफ्टी में भारी गिरावट दर्ज की गई, लेकिन सोमवार को इसमें सुधार हुआ.Also Read - Projection of Nifty in April 2022: निफ्टी का अप्रैल में कैसा हो सकता है प्रदर्शन

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शनिवार की क्लोजिंग के मुकाबले 136.78 अंकों यानी 0.34 फीसदी की बढ़त के साथ 39,872.31 पर बंद हुआ. दिनभर के कारोबार के दौरान सेंसेक्स का ऊपरी स्तर 40,014.90, जबकि निचला स्तर 39,563.07 रहा. सत्र के आरंभ में सेंसेक्स पिछले सत्र से 34.51 अंकों की कमजोरी के साथ 39,701.02 पर खुला था. Also Read - खुदरा निवेशक एनएसई-आईएफएससी के जरिये अमेरिकी शेयर बाजार में कर सकेंगे कारोबार

Budget 2020: बजट से बाजार निराश, सेंसेक्स 1000 अंक लुढ़का, निफ्टी 300 अंक से ज्यादा टूटा Also Read - Aluminium Stocks: मेटल्स के रेट 13 साल के उच्च स्तर पर पहुंचने से एल्युमीनियम कंपनियों के शेयरों में आई तेजी

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी भी पिछले सत्र के मुकाबले 62.20 अंकों यानी 0.53 फीसदी की तेजी के साथ 11,724.05 पर बंद हुआ. निफ्टी पिछले सत्र के मुकाबले 34.40 अंकों की बढ़त के साथ 11,627.45 पर खुला और कारोबार के दौरान 11,749.85 तक उछला, जबकि इसका निचला स्तर 11,614.50 रहा. बीएसई मिड-कैप सूचकांक पिछले सत्र से 169.27 अंकों यानी 1.12 फीसदी की तेजी के साथ 15,288.92 पर बंद हुआ. वहीं, बीएसई स्मॉल-कैप सूचकांक पिछले सत्र से 15.30 अंकों की बढ़त के साथ 14,360 पर ठहरा.

बीएसई के 19 सेक्टरों में से 17 सेक्टरों के सूचकांकों में तेजी रही, जबकि दो सेक्टरों के सूचकांकों में गिरावट दर्ज की गई. सबसे अधिक तेजी वाले पांच प्रमुख सेक्टरों में सूचकांकों में उपभोक्ता विवेकाधीन वस्तु एवं सेवा (1.86 फीसदी), आधारभूत सामग्री (1.54 फीसदी), रियल्टी (1.42 फीसदी), ऑटो (1.37 फीसदी) और धातु सेक्टर के सूचकांक(1.25 फीसदी) शामिल रहे जबकि टेक और आईटी के सूचकांकों में क्रमश: 1.34 फीसदी और 1.78 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. वितमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को संसद में आम बजट 2020-21 पेश किया जिस पर बाजार की प्रतिक्रिया विशेष कारोबारी सत्र के दौरान निराशाजनक रही है.