नई दिल्‍ली/ मुंबई: भारतीय शेयर बाजार में सोमवार को भारी गिरावट देखने को मिली. सुबह से शुरू हुई गिरावट दोपहर को भी जारी रही. यह बीते 10 सालों में सबसे सबसे खराब स्‍थ‍िति है. सोमवार को दोपहर में सेंसेक्‍स में एक बजकर 33 मिनट पर 6.43% के साथ 2,415.35 अंकों की गिरावट आई. वहीं, निफ्टी में एक बजकर 36 मिनट पर 6 फीसदी की गिरावट दर के साथ नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज 659.45 नीचे पहुंच गया. सोमवार को सुबह से शेयर बाजार में कोरोना वायरस के संकट और देश में यस बैंक के आर्थिक संकट ने शेयर बाजार को हिला कर रख दिया.Also Read - Go Fashion IPO Allotment Status: आज हो सकती है शेयर आवंटन की घोषणा, जानें- कैसे जांचे GMP और अलॉटमेंट की स्थिति

बीएसई में 6.43 फीसदी की गिरावट आने पर यह सेंसेक्‍स 35278.82 अंक पर नीचे पहुंच गया, वहीं, नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज 659.45 नीचे गिरने पर यह 10,330.00 पर नीचे दिखा. भारतीय शेयर बाजार में यह रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई है. Also Read - Share Market Update: सप्ताह के पहले दिन ही शेयर बाजार हुआ धड़ाम, सेंसेक्स 1200, निफ्टी 17,400 के नीचे आया

शेयर बाजार में सोमवार को शुरुआती कारोबार के दौरान भारी गिरावट के चलते निवेशकों के करीब पांच लाख करोड़ रुपए डूब गए. कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते बढ़ती आर्थिक अनिश्चितता के कारण यह गिरावट हुई. Also Read - Share Market Holiday: गुरुनानक जयंती के मौके पर बीएसई, एनएसई आज रहेंगे बंद

बीएसई में 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स सूचकांक 1515.01 अंक या 4.03 प्रतिशत गिरकर 36,061.61 पर आ गया था. निफ्टी में भी 417.05 अंकों या 3.80 प्रतिशत की गिरावट हुई थी और यह 10,572.40 के स्तर पर आ गया था. बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में भारी गिरावट दर्ज की गई थी.