National Disaster Response Fund: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) के नेतृत्व में गठित एक उच्च स्तरीय समिति ने छह राज्यों को 4,382 करोड़ रुपये की राशि जारी की है. यह राशि, इस साल प्राकृतिक आपदा झेल चुके राज्यों को केंद्र की ओर से सहायता के तौर पर दी गई है. यह राशि पश्चिम बंगाल, ओडिशा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और सिक्किम को दी जाएगी, जहां इस साल लोगों को चक्रवात, बाढ़ और भूस्खलन की मार झेलनी पड़ी. Also Read - दिल्ली वालों को बड़ी राहत: कोरोना टेस्ट के लिए नहीं देने होंगे रुपए, गृह मंत्रालय ने लिया फैसला

गृह मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि केंद्र द्वारा अतिरिक्त सहायता के रूप में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया निधि (National Disaster Response Fund, NDRF) से 4381.88 करोड़ रुपये छह राज्यों को जारी किए जाने को समिति ने मंजूरी दी. अम्फान चक्रवात (cyclone Amphan) की मार झेल चुके पश्चिम बंगाल के लिए 2,707.77 करोड़ रुपये को मंजूरी दी गई. Also Read - भारत के लिए कौन सी कोरोना वैक्सीन चुनेगी सरकार? राहुल गांधी ने पीएम मोदी से पूछे ये चार सवाल

वहीं, महाराष्ट्र में निसर्ग चक्रवात से हुई तबाही से उबरने के लिए 268.59 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए. दक्षिण पश्चिमी मानसून के दौरान आई बाढ़ और भूस्खलन से हुए नुकसान की भरपाई के लिए कर्नाटक को 5,77.84 करोड़ रुपये दिए जाएंगे. जबकि मध्य प्रदेश को 6,11.61 करोड़ तथा सिक्किम को 87.84 करोड़ रुपये दिए जाएंगे. Also Read - Coronavirus Crisis in India: देश में कोरोना की कहीं दूसरी तो कहीं तीसरी लहर का प्रकोप, यहां देखें किस राज्य में कितने मामले

अम्फान चक्रवात के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मई को पश्चिम बंगाल और ओडिशा के प्रभावित राज्यों का दौरा किया था. इस दौरान उन्होंने पश्चिम बंगाल के लिए 1,000 करोड़ और ओडिशा के लिए 500 करोड़ रुपये की तत्काल वित्तीय सहायता की घोषणा की थी. इसके अलावा, प्रधानमंत्री ने मृतकों के परिजनों के लिए 2 लाख और घायलों के लिए 50,000 रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी.