Spectrum Auction: बुधवार को हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में स्पेक्ट्रम की नीलामी की मंजूरी मिल गई है. मार्च 2021 में होने वाली स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए गाइडलाइंस जल्द ही जारी कर दी जाएंगी. केंद्रीय दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस बारे में जानकारी दी.Also Read - CDS बिपिन रावत की मौत के बाद हुई कैबिनेट मीटिंग के वीडियो से पाकिस्‍तान में हुई थी छेड़छाड़, स‍िखों को भड़काने की कोशिश

लोकसत्ता में छपी खबर के मुताबिक दिसंबर में ही नीलामी के लिए कंपनियों को आमंत्रित करने के लिए पत्रक जारी किये जायेंगे. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि दूरसंचार विभाग ने 2251 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के नीलामी की योजना बनाई है. प्रसाद ने आगे कहा कि 700MHz, 800MHz, 900MHz, 1,800MHz, 2,100MHz, 2,300MHz, 2,500MHz बैंड्स में स्पेक्ट्रम की बिक्री की जायेगी. Also Read - पीएम मोदी आज करेंगे मंत्रिपरिषद के साथ बैठक, ओमिक्रॉन, विधानसभा चुनाव पर चर्चा की संभावना

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इसके पहले हुई स्पेक्ट्रम नीलामी को 4 साल पूरे हो गए हैं. इसकी वजह से दूरसंचार सेक्टर से स्पेक्ट्रम के संबंध में जरूरत व्यक्त की जा रही थी. अगली नीलामी की शर्तें 2016 में हुई नीलामी की तरह ही होंगी. Also Read - Central Cabinet Meeting LIVE: केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में हो गया फैसला, कृषि कानून वापसी बिल को मिली मंजूरी

बता दें, चार साल पहले स्पेक्ट्रम की नीलामी से सरकार को 65 हजार 789 करोड़ रुपये प्राप्त हुए थे. उस समय बिक्री के लिए 5.63 ट्रिलियन मूल्य के स्पेक्ट्रम जारी किये गये थे.

गौरतलब है कि ये नीलामी प्रक्रिया रिलायंस जियो इन्फोकॉम के लिए अत्यंत आवश्यक है. जुलाई-अगस्त महीने में रिलायंस के 800 मेगा हर्ट्ज स्पेक्ट्रम के बड़े हिस्से की समयावधि समाप्त हो रही है. फिलहाल रिलायंस जियो की ओर से ग्राहकों को केवल 4जी सेवा उपलब्ध कराई जा रही हैं.