कोलंबो: श्रीलंका सरकार ने कहा है कि वह अपने विदेशी मुद्रा भंडार को मजबूत करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक के साथ 40 करोड़ डॉलर का मुद्रा अदला-बदली करार करने जा रही है. श्रीलंका सरकार के एक शीर्ष मंत्री ने शुक्रवार को कहा कि इससे कोविड-19 महामारी से बुरी तरह प्रभावित उनके देश को वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने में भी मदद मिलेगी. Also Read - पीएम मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति और मॉरीशस के प्रधानमंत्री से की बात, बोले, संकट में साथ खड़ा है भारत

श्रीलंका मंत्रिमंडल के सह प्रवक्ता और सूचना एवं संचार मंत्री बंडुला गुणावर्देना ने कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे द्वारा वित्त मंत्री के रूप में रखे गए रिजर्व बैंक के साथ वित्तीय सुविधा के करार संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. इससे देश को लघु अवधि की अंतरराष्ट्रीय नकदी जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी. Also Read - RBI Governor Economic Package: RBI गवर्नर ने की अहम घोषणाएं, जानें आपको क्या मिला...

गुणावर्देना ने कहा कि श्रीलंका रिजर्व बैंक के साथ 40 करोड़ डॉलर की मुद्रा अदला-बदली का अनुबंध करार करेगा. उन्होंने कहा कि इस कदम का मकसद देश के विदेशी मुद्रा भंडार को मजबूत करना है. श्रीलंका ने कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए महत्वपूर्ण आर्थिक उपाय किए हैं. देश में 373 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. इस महामारी से अब तक यहां सात लोगों की मौत चुकी है. Also Read - RBI Governor Shaktikant Das Speech: लॉकडाउन में चली रेपो रेट पर कैंची, क्या कम होगी EMI?

(इनपुट भाषा)