मुंबई. देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई जल्दी ही मकान कर्ज पर ब्याज में कमी करेंगा. बैंक के प्रमुख रजनीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि इस बारे में प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है. एसबीआई ने रिजर्व बैंक की द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दर (रेपो) में 0.25 प्रतिशत की कटौती के एक दिन बाद भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने यह बात कही है. एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि बैंक आवास ऋण ब्याज दर में कमी के प्रस्ताव पर काम कर रहा है और जल्दी ही इस बारे में घोषणा की जाएगी.

उन्होंने कहा कि अन्य बैंकों के मुकाबले एसबीआई की जमा दरें काफी कम है और एमसीएलआर प्रणाली के तहत ब्याज दर में कमी के लिये जमा दरों में कमी जरूरी है. आरबीआई के रेपो दर में कमी के कुछ ही घंटों के भीतर बैंक आफ महाराष्ट्र ने कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) में 0.05 प्रतिशत की कटौती की. आवास ऋण में कमी समस्याओं में घिरे रीयल्टी क्षेत्र के लिये राहत भरा कदम होगा. इस क्षेत्र को अंतरिम बजट में भी कुछ राहत दी गयी.

बाह्य मानक दर के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने इस बारे में अभी दिशानिर्देश जारी होना बाकी है. आरबीआई इस व्यवस्था को अप्रैल से क्रियान्वित करना चाहता है. आपको बता दें कि मोदी सरकार ने भी होम लोन लेने वालों को कर्ज में राहत देने के संबंध में हाल में कई घोषणाएं की हैं. इस बार के बजट में भी होम लोन को लेकर सरकार ने कई नीतियों को लागू करने की घोषणा की थी.

(इनपुट – एजेंसी)