मुंबई: शेयर बाजारों में गिरावट का सिलसिला बृहस्पतिवार को सातवें दिन भी जारी रहा. अमेरिका तथा चीन के बीच बढ़ते व्यापार तनाव और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में गिरावट के साथ बीएसई सेंसेक्स 230 अंक गिरकर बंद हुआ. तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 230.22 अंक यानी 0.61 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,558.91 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 37,405.40 से 37,780.46 अंक के दायरे में रहा. इसी प्रकार नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 57.65 यानी 0.51 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,301.80 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 11,255.05 से 11,357.60 अंक के दायरे में रहा.

टीवीएस, सुजुकी, पियाजियो की 2018-19 में देश के स्कूटर बाजार में बढ़ी हिस्सेदारी

सेंसेक्स के शेयरों में रिलायंस इंडस्ट्रीज सर्वाधिक नुकसान में रही. कंपनी का शेयर 3.41 प्रतिशत नीचे आया. उसके बाद क्रमश: कोल इंडिया, एशियन पेंट्स, एनटीपीसी, कोटक बैंक, भारती एयरटेल, वेदांता, पावरग्रिड और एचडीएफसी बैंक तथा एचडीएफसी का स्थान रहा. इन कंपनियों के शेयरों में 2.53 प्रतिशत तक की गिरावट आयी. दूसरी तरफ यस बैंक में सर्वाधिक 5.94 प्रतिशत तेजी दर्ज की गयी. इसके अलावा बजाज फाइनेंस, हीरो मोटो कार्प, टीसीएस, एचयूएल, बजाज आटो, एचसीएल टेक, इन्फोसिस, एसबीआई, महिंद्रा एंड महिंद्रा, आईसीआईसीआई बैंक तथा टाटा मोटर्स 1.65 प्रतिशत तक मजबूत हुए.

भारत के विदेशी पूंजी भंडार में 1.02 अरब डॉलर का इजाफा, 23.40 अरब डॉलर पर स्थिर सोना

अमेरिका व चीन के बीच व्यापार तनाव बढ़ने से सहमा बाजार
कारोबारियों के अनुसार अमेरिका तथा चीन के बीच व्यापार तनाव बढ़ने से निवेश धारणा कमजोर बनी हुई है. व्यापार युद्ध समाप्त करने के लिये दोनों देशों के बीच अगले दौर की होने वाली वार्ता से पहले चीन ने कहा कि अगर अमेरिका, चीनी वस्तुओं पर उत्पाद शुल्क बढ़ाता है, वह उसका उपयुक्त जवाब देगा. उल्लेखनीय है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 200 अरब डॉलर के मूल्य के सामान पर शुल्क बढ़ाने की चेतावनी दी है.

विकास की रफ्तार में आई सुस्ती तो रेटिंग एजेंसी फिच ने घटाया GDP वृद्धि दर का अनुमान

एशिया के अन्य बाजारों में भी गिरावट
एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई कंपोजिट सूचकांक 1.48 प्रतिशत, हैंग सेंग 2.39 प्रतिशत, निक्केई 0.93 प्रतिशत तथा कोसपी 3.04 प्रतिशत नीचे आये. यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में गिरावट का रुख रहा. इस बीच, शेयर बाजारों के पास उपलब्ध अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने बुधवार को 701.50 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 232.95 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे.