Sugar Production: देश में चीनी का उत्पादन (Sugar Production) चालू सीजन 2020-21 (अक्टूबर-सितंबर) के आरंभिक पांच महीने के दौरान पिछले साल के मुकाबले करीब 20 फीसदी बढ़ गया है. चीनी उद्योग संगठन इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (ISMA) की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, चालू गन्ना पेराई सत्र में देशभर की 502 मिलों ने 233.77 लाख टन चीनी का उत्पादन किया, जबकि पिछले साल की अवधि में 453 मिलों में चीनी का उत्पादन 194.82 लाख टन हुआ था. इस प्रकार पिछले साल के मुकाबले चालू सीजन में 28 फरवरी तक चीनी का उत्पादन पिछले साल से 38.95 लाख टन यानी 19.99 फीसदी ज्यादा हुआ है.Also Read - देश का चीनी उत्पादन 2021-22 में 13 प्रतिशत बढ़कर 3.5 करोड़ टन रहने का अनुमान

सबसे ज्यादा चीनी का उत्पादन 84.85 लाख टन महाराष्ट्र में हुआ है जो पिछले साल की समान अवधि के 50.70 लाख टन से 67 फीसदी ज्यादा है. Also Read - देश में चीनी का उत्पादन 4 महीने में 25 फीसदी बढ़ा, पहले तीन माह में बिक्री 67.5 लाख टन रहने की रिपोर्ट

हालांकि, उत्तर प्रदेश में पिछले साल से कम चीनी का उत्पादन हुआ है. चालू सीजन में 28 फरवरी 2021 तक 74.20 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है जबकि पिछले की समान अवधि में उत्तर प्रदेश में चीनी का उत्पादन 76.86 लाख टन हुआ था. Also Read - Sugar Production: इस्मा ने चीनी उत्पादन अनुमान 8 लाख टन घटाया, जानिए- क्या है संशोधित अनुमान

देश के तीसरे सबसे बड़े चीनी उत्पादक राज्य कर्नाटक में इस साल फरवरी के आखिर तक 40.53 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ जबकि पिछले साल इसी अवधि में 32.60 लाख टन हुआ था.

गुजरात में चालू सीजन में 7.49 लाख टन चीनी का उत्पादन हो चुका है जबकि पिछले साल इसी अवधि में 6.83 लाख टन हुआ था.

तमिलनाडु में चीनी का उत्पादन आलोच्य अवधि के दौरान 3.16 लाख टन हुआ है जबकि पिछले साल 3.37 लाख टन हुआ था.

चालू सीजन में 28 फरवरी तक आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, बिहार, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़, राजस्थान और ओडिशा में कुल 23.54 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ है.

देशभर में चालू गन्ना पेराई सत्र के दौरान 502 चीनी मिलों में चीनी उत्पादन शुरू किया था जिनमें से 98 मिलों ने 28 फरवरी तक अपना ऑपरेशन बंद कर दिया था.