गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई ने 2020 में स्नातक करने वाले युवाओं को अपने विशेष संदेश में कहा कि उन्हें अपने विचार खुले रखने चाहिए, आशावान बने रहना चाहिए. साथ ही इस बात के लिए उत्सुक रहना चाहिए कि हर चीज को बदलने का एक अवसर होता है. Also Read - बड़ी घोषणा: गूगल कंपनी भारत में करेगी 75 हज़ार करोड़ का निवेश, CEO सुंदर पिचाई ने किया ऐलान

कोविड-19 संकट के चलते स्नातक पूर्ण होने पर होने वाले दीक्षांत समारोह नहीं हुए हैं. ऐसे में गूगल के वीडियो मंच यूट्यूब पर एक वर्चुअल कार्यक्रम में उन्होंने इन छात्रों को अपना संदेश दिया. Also Read - PM मोदी ने सुंदर पिचाई से की वीसी, गूगल भारत में 10 बिलियन डॉलर का निवेश करेगा

इस दौरान पिचाई ने पढ़ाई के दौरान अपने परिवार की स्थिति की चर्चा की. उन्होंने कहा कि एक समय था जब उन्होंने भी कई चुनौतियों का सामना किया. उन्होंने कहा कि जब वह पढ़ाई करने के लिए भारत से अमेरिका आ रहे थे तब उनके परिवार की आर्थिक स्थित बहुत अच्छी नहीं थी. उनके पिता ने अपनी एक साल की कमाई के बराबर रकम अमेरिका के लिए टिकट खरीदने में खर्च की थी. उन्होंने कहा कि वह उस वक्त पहली बार प्लेन में बैठे थे. आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि मेरे पिता की मासिक आय क्या थी. Also Read - H1B वीजा पर अमेरिका ने लगाई रोक, तो सुंदर पिचाई बोले- हम खड़े हैं इमिग्रेंट्स के साथ

इस कार्यक्रम में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और पूर्व फर्स्ट लेडी मिशेल ओबामा, कोरिया का पॉप समूह बीटीएस, गायक बेयांस और लेडी गागा, पूर्व रक्षा सचिव रॉबर्ट एम. गेट्स, अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री कोंडोलेजा राइस और मलाला युसुफजई शामिल हुईं.

पिचाई ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि इस तरह के स्नातक दीक्षांत समारोह की आपने कल्पना की होगी. ऐसे समय में जब आप अपने स्नातक होने का उत्सव मना रहे हैं तब आप इसका भी खेद मना रहे होंगे कि आपने क्या खोया, अपनी योजनाओं के बारे में सोच रहे होंगे और अनुभव पाने के लिए इंतजार कर रहे होंगे. ऐसे में अपने को आशावान रखना मुश्किल हो सकता है.

उन्होंने कहा कि ऐसे में आपको विचार खुले रखने होंगे, आशावान बने रहना होगा और अधीर रहना होगा. यदि आप यह कर सकते हैं तो इतिहास आपको ‘2020 के छात्रों’ के तौर पर इसलिए याद नहीं रखेगा कि आपने क्या खोया बल्कि इसलिए याद रखेगा कि आपने क्या बदला. आपके पास सब कुछ बदलने का अवसर है. मैं आशावान हूं कि आप यह कर पाएंगे.