लंदन: जगुआर लैंड रोवर (जेएलआर) की प्रवर्तक टाटा मोटर्स ने ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने (ब्रेक्जिट) को लेकर चल रही उठा-पटक के बावजूद प्रधानमंत्री टेरेसा मे को उनके देश के वाहन उद्योग के प्रति अपनी प्रतिबद्धता पर कायम रखने का भरोसा दिया है. ब्रिटेन के अखबार ‘संडे टाइम्स’ के मुताबिक, टाटा संस के चेयरमैन नटराजन चंद्रशेखरन ने प्रधानमंत्री मे को लिखा है कि टाटा समूह जेएलआर में निवेश करना चाहता है, कंपनी को बेचने का उसका कोई इरादा नहीं है.

जेएलआर द्वारा छटनी की खबरों के बीच यह रिपोर्ट सामने आई है. जेएलआर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राल्फ स्पेथ लगातार ब्रेक्जिट को लेकर आगाह करते रहे हैं कि इसका कंपनी की आपूर्ति श्रृंख्ला और बिक्री पर असर पड़ेगा.

अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि टाटा मोटर्स ने यह पत्र ब्रिटेन के संबंध में अपनी दीर्घकालिक प्रतिबद्धताओं पर फिर भरोसा दिलने के लिए लिखा है. कंपनी ने इलेक्ट्रिक और चालक रहित वाहन प्रौद्योगिकी तथा वाहन-बैटरी कारखाने के निर्माण के लिए सरकार से समर्थन की मांग की है.