नई दिल्ली। अगर आप मशीन लर्निग इंजीनियर बनने वाले या फिर आप एप्लिकेशन डेवलपमेंट एनालिस्ट बनना चाहते हैं, तो आपको नौकरी मिलने की संभावना काफी ज्यादा है. क्योंकि टेक्नोलॉजी के इन क्षेत्रों से जुड़ी नौकरियां तेजी से बढ़ रही हैं और भारत में यह टॉप 10 पेशेवर क्षेत्रों में से एक है. लिंक्डइन ग्लोबल प्रोफेशनल नेटवर्क साइट ने गुरुवार को यह जानकारी दी है. Also Read - Corona के बीच ब्लैक बिकिनी में बॉयफ्रेंड संग वर्कआउट करती दिखीं टाइगर की बहन कृष्णा, VIDEO VIRAL

मशीन लर्निंग इंजीनियर की नौकरी में 43 गुना बढ़ोतरी Also Read - सोशल मीडिया में कोरोनावायरस फैलाने के लिए लोगों को उकसा रहा था सॉफ्टवेयर इंजीनियर, पुलिस ने किया गिरफ्तार

‘टॉप 10 इमर्जिग जॉब्स इन इंडिया’ रिपोर्ट में कहा गया है कि मशीन लर्निग इंजीनियर की नौकरी में 43 गुना की वृद्धि दर्ज की गई है, जबकि एप्लिकेशन डेवलपमेंट एनालिस्ट की नौकरियों में साल 2013 से 2017 के बीच 32 गुना की वृद्धि दर्ज की गई है. Also Read - अंकिता लोखंडे का देखने वाला है Traditional अवतार, मराठी लुक में कहर ढाया

LinkedIn पर पीएम मोदी, प्रियंका चोपड़ा का प्रोफाइल सबसे ज्यादा देखा गया

माइक्रोसॉफ्ट के स्वामित्व वाली लिंक्डइन के देश में 5 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं. कंपनी ने कहा कि इसके अलावा, हालांकि इस सूची में प्रौद्योगिकी से जुड़ी नौकरियां टॉप पर हैं, लेकिन वे अब केवल प्रौद्योगिकी से जुड़ी कंपनियों में ही नहीं मिलती है, बल्कि फार्मा से लेकर बैंकिंग और रिटेल क्षेत्रों तक में प्रौद्योगिकी इंजीनियरों को नौकरियां मिल रही हैं.

लिंक्डइन टैलेंट एंड लर्निग सोल्यूशंस के उपाध्यक्ष (एशिया प्रशांत क्षेत्र) फेओन आंग ने एक बयान में कहा कि भारत की स्वदेशी प्रौद्योगिकी प्रतिभा ने कई वैश्विक कंपनियों को सफलता दिलाई है, इसलिए कोई हैरत नहीं है कि भारत विभिन्न क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी और कोर तकनीकी कौशल से जुड़ी नौकरियां पैदा करने के मामले में टॉप 5 उभरते बाजारों में से एक है.