नई दिल्ली: नागर विमानन मंत्रालय ने कहा है कि सरकार द्वारा 21 मई को घरेलू उड़ानों की इकोनॉमी श्रेणी की सीटों के लिए तय निम्न किराया सीमा अब प्रीमियम इकोनॉमी श्रेणी की सीटों के लिए भी लागू होगी. हालांकि सरकार द्वारा इकोनॉमी श्रेणी की सीटों के लिए तय उच्च किराया सीमा प्रीमियम इकोनॉमी श्रेणी की सीटों के लिए लागू नहीं होगी. मंत्रालय के पांच अक्टूबर के एक आदेश में यह कहा गया है. Also Read - 60% यात्री क्षमता के साथ Domestic Flights को इजाजत, इंटरनेशनल उड़ानों का अब भी इंतजार

नागर विमानन मंत्रालय ने 21 मई को घरेलू यात्री विमान सेवाओं के लिए सात श्रेणियों में किराये की उच्च और निम्न सीमाएं 24 अगस्त तक के लिए निर्धारित की थीं. बाद में इसे 24 नवंबर तक बढ़ा दिया गया. भारतीय घरेलू विमानन कंपनियों में से केवल विस्तारा के विमानों में प्रीमियम इकोनॉमी श्रेणी की सीटें हैं. Also Read - Total Lockdown in West Bengal: संपूर्ण लॉकडान के चलते इन दो दिन कोलकाता से नहीं होगा उड़ानों का संचालन

भारत में कोरोना वायरस महामारी के कारण करीब दो महीने के अंतराल के बाद 25 मई को घरेलू उड़ान सेवाएं बहाल कर दी गयी थीं. Also Read - कोरोना के बीच रफ्तार पकड़ रही घरेलू उड़ानों में होगा 60 तक का इजाफा, दिवाली तक शुरू होने की उम्मीद

(इनपुट भाषा)