नई दिल्ली: जब बात पारंपरिक, ईंट-पत्थर उद्योग की आती है तो व्यापार के डीएनए के साथ पैदा हुए बनियों ने सफलता की कई कहानियां लिखी हैं. डिजिटल अर्थव्यवस्था के उभार के साथ इस समुदाय ने चाहे वह बंसल हों, गोयल हों, गुप्ता हो या अग्रवाल- इन्होंने नए व्यापारिक मॉडल, विशेष रूप से तेजी से बढ़ते डिजिटल उद्योग को आसानी से अपना लिया है. ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म ‘जोमेटो’ के संस्थापक दीपिंदर गोयल हैं, ऑनलाइन टैक्सी सर्विस ‘ओला’ के संस्थापक भाविश अग्रवाल हैं, वहीं ‘फ्लिपकार्ट’ के संस्थापक सचिन बंसल, किफायती होटल श्रंखला ‘ओयो रूम्स’ के संस्थापक 24 वर्षीय रीतेश अग्रवाल और ‘लेंसकार्ट’ के संस्थापक पीयूष बंसल हैं. Also Read - Flipkart BBD Sale 1 Rs Pre Booking Offer: सेल से 5 दिन पहले फ्लिपकार्ट ने शुरू किया प्री बुकिंग ऑफर, ऐसे उठा सकेंगे फायदा

Also Read - फ्लिपकार्ट ने नागालैंड को बताया भारत से बाहर का हिस्सा, कैट ने कहा- राजद्रोह का मुकदमा चलाए सरकार

इन वजहों से भारतीय मीडिया और मनोरंजन उद्योग 2022 तक Rs.3.73 लाख करोड़ का हो जाएगा Also Read - Motorola Razr 5G भारत में 5 अक्टूबर को होगा लॉन्च, जानें मुड़ने वाले इस स्मार्टफोन की खूबियां

आधुनिक उपभोक्ताओं की स्पष्ट समझ

‘जोमेटो’ को 2.3 अरब डॉलर की कुल पूंजी के साथ शुरू किया गया था, जिसके कोष में हाल ही में 60 करोड़ डॉलर का इजाफा हुआ. भारत में ‘उबर’ का स्थानीय प्रतिद्वंद्वी ओला की पूंजी लगभग 60 अरब डॉलर हो गई है. ‘ओला’ अब लगभग 125 शहरों में है. ‘फ्लिपकार्ट’ से निकलने के बाद उसे अपनी लगभग एक अरब डॉलर की हिस्सेदारी बेचने के बाद बंसल ने भावीश की ‘ओला’ में 10 करोड़ डॉलर का निवेश किया और उनके इसमें और ज्यादा निवेश करने की संभावना है.

1.5 लाख तक टैक्स छूट? बिना कोई इन्वेस्टमेंट किए 80C के तहत आप इस तरह उठा सकते हैं फायदा

इन सभी में एक विशेषता समान है- हिसाब किताब पर मजबूत पकड़ और उनके आधुनिक उपभोक्ताओं के बारे में स्पष्ट समझ, जिनमें ज्यादातर युवा हैं और पिज्जा मंगाने से लेकर, कैब बुलाने, उड़ानें बुक करने और कहीं भी खरीदारी करने तक के लिए अपना ज्यादातर समय स्मार्टफोन और इंटरनेट पर बिताते हैं. ‘मोर्गन स्टेनली’ की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, व्यापारियों, बैंकरों, साहूकारों, अनाजों और मसालों के विक्रेताओं के पेशेवर समुदाय बनिया ने लगभग 40 करोड़ युवाओं की बदलती जरूरतों को ध्यान में रखकर खुद को बहुत तेजी से तैयार किया है. ‘साइबरमीडिया रिसर्च एंड सर्विसिस लिमिटेड’ (सीएमआर) के प्रमुख और वरिष्ठ उपाध्यक्ष थॉमस जॉर्ज ने कहा, “पारंपरिक व्यावसायिक घरानों के युवाओं ने फायदेमंद ई-कॉमर्स में कदम रख दिया है, और विकसित अर्थव्यवस्थाओं, नए व्यापारिक मॉडलों और बेहतर शिक्षा के प्रति जागरूकता के कारण वे सफल भी हुए हैं.”

सीबीआई ने ICICI की पूर्व सीईओ चंदा कोचर और वीडियोकॉन ग्रुप के एमडी धूत के खिलाफ केस दर्ज किया