मुंबई : प्राइवेट सेक्टर के प्रमुख बैंकों ने जमा पर ब्याज दरों में 0.25 प्रतिशत तक की कटौती की है. आमतौर पर जमा ब्याज दर में कटौती को लोन के लिए ब्याज की दर में कमी किए जाने से पहले के कदम के रूप में देखा जाता है. नकदी की स्थिति बेहतर होने तथा रिजर्व बैंक के इस महीने की शुरुआत में रेपो दर में कटौती के बाद आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) तथ एक्सिस बैंक (Axis Bank) समेत अन्य बैंकों ने यह कदम उठाया है. रिजर्व बैंक ने नीतिगत दर में कटौती के बाद बैंकों से उसका लाभ ग्राहकों को देने को कहा है, ताकि धीमी पड़ती अर्थव्यवस्था में तेजी लाई जा सके.

आईसीआईसीआई बैंक ने मियादी जमा पर ब्याज दर में 0.10 से 0.25 प्रतिशत की कटौती की है. यह कटौती सोमवार से लागू हुई. बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार इसके तहत 290 दिनों से लेकर एक साल से कम समय तक के लिए घरेलू जमा पर आईसीआईसीआई बैंक 6.75 प्रतिशत ब्याज देगा. वहीं दो साल से लेकर तीन साल से कम अवधि के लिए जमा पर ब्याज दर 7.30 प्रतिशत होगी.

एक्सिस बैंक ने भी जमा ब्याज दर में 0.15 प्रतिशत की कटौती की है. बैंक प्रवक्ता ने कहा, ‘बैंक ने एक साल के लिए जमा पर ब्याज दर में कटौती की है.’

ऐसा जान पड़ता है कि निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) ने भी जमा दरों की समीक्षा की है, लेकिन फिलहाल इसके बारे में जानकारी नहीं मिली है.